Date: 28/02/2024, Time:

कुत्ते के काटा तो खुद को कुत्ता समझ भौंकने और दुम हिलाने लगा किशोर

0

प्रयागराज 13 जनवरी। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में एक हैरान करने वाली घटना सामने आई है। जहां पर एक 11 साल के बालक पर एक साल पहले एक कुत्ते ने हमला कर दिया। कुत्ते ने उसे काट दिया था। जिसके बाद उसके परिजनों ने उसका इलाज कराया और एंटी रेबीज इंजेक्शन भी लगवा दिए। लेकिन, इसके बावजूद किशोर अपने आप को कुत्ता समझने लग गया। वो जब भी अपने माता-पिता को देखता तो भौंकने लगता है। उसके खाने-पीने, लेटने-बैठने का अंदाज भी बदल गया है। जिससे माता-पिता काफी परेशान है।

बता दें कि मेजा तहसील के कोहड़ार निवासी इस 11 वर्षीय बच्चे को पिछले साल गांव के ही एक कुत्ते ने काट लिया। परिजनों ने तुरंत ही एंटी रेबीज इंजेक्शन लगवा दिया। सभी डोज लगने के कुछ हफ्ते बाद बेटे की आदतों में कुछ बदलाव आने लगा। उसने रात में परिजनों और बाहरी लोगों को देखकर भौंकना शुरू कर दिया। वो कुत्तों की तरह दुम हिलाने की कोशिश करता था। परिजनों के मुताबिक, कुत्ते की तरह व्यवहार देखकर शुरू में तो डांट-फटकार कर समझाने की कोशिश की। लेकिन, उसके व्यवहार में कोई बदलाव नहीं हुआ।

जिसके बाद परिजन काफी परेशान हो गए। माता-पिता उसे लेकर मोती लाल नेहरू मंडलीय चिकित्सालय (कॉल्विन) में दिखाने पहुंचे। डॉक्टरों ने जांच में पाया कि बालक पूरी तरह से स्वस्थ है। ऐसे में उसे यहां के मन कक्ष भेज दिया गया। यहां मनोचिकित्सक की जांच में पता चला कि वह लाइकेंथ्रोपी या लाइकोमेनिया का शिकार हो गया है। यह बीमारी लाखों में किसी एक को होती है। इसमें व्यक्ति जैसा सोचता है, वैसा ही व्यवहार करने लगता है। बच्चें ने डॉक्टरों को बताया कि वो खुद को कुत्ता समझने लगा है। उसे लगता है कि जब से कुत्ते ने काटा है, वह इंसान नहीं रहा। चिकित्सकों ने उसका इलाज शुरू कर दिया है।

Share.

Leave A Reply