Date: 30/05/2024, Time:

जिन दो बहनों की लाशे ढूंढ रही थी पुलिस, वो जिंदा होने की गवाही देने थाने पहुंचीं

0

गोरखपुर 30 अप्रैल। बेलघाट थाना क्षेत्र से लापता दो सगी बहनों की गवाही के बाद हत्यारोपी के बरी होने का रास्ता साफ हो गया है. मामला करीब 15 महीन पहले का है. दोनों बहने अपने अपने प्रेमी के साथ फरार हो गईं थीं. इसके बाद युवतियों के भाई ने शक के आधार पर एक युवक पर हत्या का आरोप लगाकर मुकदमा दर्ज करा दिया था. जांच पड़ताल के दौरान पुलिस को दोनों युवतियों के जिंदा होने की बात पता चली. इस पर सर्विलांस की मदद से दोनों युवतियों को तलाश कर थाने बुलाकर बयान दर्ज कराए गए हैं. इस मामले के पटाक्षेप के बाद बेलघाट पुलिस की भूमिका की बहुत सराहना हो रही है.

एसपी सिटी कृष्ण कुमार बिश्नोई के अनुसार 3 जनवरी 2023 को दोनों युवतियां संदिग्ध परिस्थितियों में घर से गायब हो गईं थीं. इस मामले में युवती के भाई ने शक के आधार पर घर आने जाने वाले युवक जयनाथ मौर्या के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था. मुकदमे की विवेचना के दौरान दोनों बहनों के जिंदा होने की बात पता चली. जांच में सामने आया कि दिल्ली में रहने के दौरान युवतियों की जान पहचान उत्तराखंड और हरियाणा के रहने वाले युवकों से हुई थी और बाद में विवाह करके दोनों ससुराल में रहने लगी थीं. इन दोनों बहनों की एक-एक बेटियां भी हैं.

सर्विलांस की मदद से एक युवती की लोकेशन उत्तराखंड के चमोली के द्रमोली गांव में मिली. जहां वह शादी करके अपने परिवार के साथ रह रही थी. दूसरी युवती की लोकेशन हरियाणा के भिवानी स्थित भवानी खेड़ा के भैइनी ठकरान गांव में मिली. जहां वह विजेंद्र से विवाह कर घर बसा चुकी थी. विवेचक ने उनकी हत्या का मुकदमा दर्ज होने की जानकारी दी तो दोनों ने बताया कि वे अपनी मर्जी से घर से भागी थीं और बाद में विवाह कर लिया है.

Share.

Leave A Reply