Date: 24/07/2024, Time:

20 जुलाई से डायवर्ट होगा रूट, वनवे होगा मेरठ हाईवे

0

बुलंदशहर 11 जुलाई। 22 जुलाई से शुरू होने वाले सावन माह को लेकर पुलिस ने रूट डायवर्जन की तैयारी शुरू कर दी है। योजना के तहत 20 जुलाई से मेरठ हाईवे को बनने करने की तैयारी है। शहर में भारी वाहनों के प्रवेश पर भी रोक लगाई जाएगी। इसके अलावा अनूपशहर, नरौरा और अहार में तीन लाख से अधिक श्रद्धालुओं के पहुंचने के चलते कस्बों में भारी वाहनों को वैकल्पिक रूट से निकालने की योजना है।

योजना के तहत 20 जुलाई से बुलंदशहर-मेरठ नेशनल हाईवे 334 को वनवे किया जाएगा। केवल एक ओर ही वाहनों का संचालन होगा और दूसरी ओर भोले के भक्त कांवड़ लेकर गंतव्य के लिए रवाना होंगे। इसके अलावा शहर के भूड़ चौराहा, स्थाना अड्डा, शिकारपुर तिराहा, तहसील तिराहा से भारी वाहनों का शहर में प्रवेश पूरी तरह से बैन रहेगा। इसके अलावा संभल अनूपशहर, नरौरा और अहार क्षेत्र में भी भारी वाहनों के प्रवेश पर पूरी तरह से रोक लगाई जाएगी।

हल्के वाहनों का प्रस्तावित डायवर्जन
अलीगढ़ की ओर से मेरठ, हापुड़ की ओर जाने वाले हल्के वाहनों को नेशनल हाईवे 34 की एक लेन से अरनिया, खुज बाईपास, खुर्जा देहात कोतवाली देहात, भूड़ चौराहा, नेशनल हाईवे 334 की बाइलेन से हापुड़ मेरठ की ओर निकाला जाएगा।

भारी वाहनों का प्रस्तावित डायवर्जन
मेरठ, हापुड़ से रामपुर, संभल, मुरादाबाद की ओर जाने वाले भारी वाहन नेशनल हाईवे 24 से होकर डासना, ईस्टर्न पेरिफेरल, सिकंदराबाद, भूड़ चौराहा, नरौरा से चौकी गंगा बैराज, थाना गुन्नौर संभल होते हुए गंतव्य को जाएंगे।

कांवड़ यात्रा के लिए बैठक में दिए निर्देश
विकास खंड अनूपशहर में बुधवार को जिला पंचायत राज अधिकारी ने कांवड़ मेला को सफल बनाने के लिए अधिकारियों के साथ बैठक की। इस दौरान डिबाई, दानपुर के खंड सचिवों के साथ बैठक करते हुए निर्देशित किया कि कांवड़ मेला को पॉलिथीन मुक्त बनाया जाए। सड़कों के किनारे लाइटों की व्यवस्था की जाए, रास्ते में रुकने के लिए की जानी व्यवस्था ऐसी हो कि ट्रैफिक प्रभावित न हो। सड़कों के किनारे की झाड़ियों को ठीक से काटा जाए। कांवड़ मार्गों पर पड़ने वाले सामुदायिक शौचालय 24 घंटे खोले जाएं, सफाई कर्मचारियों को किट दी जाए। रास्तों के सभी हैंडपंप को चालू कराया जाए, ताकि किसी भी भक्त को परेशानी न हो।

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे, एनएच-9 के पास नहीं लगेंगे कांवड़ शिविर
कांवड़ यात्रा को शांतिपूर्ण और सकुशल संपन्न कराने के लिए बुधवार को दिल्ली और पश्चिमी यूपी के पुलिस अधिकारियों ने गाजियाबाद पुलिस लाइन में बैठक की। कांवड़ यात्रा के लिए इस बार दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे से कांवड़िये आ-जा सकेंगे लेकिन एक्सप्रेसवे और एनएच-9 के पास कांवड़ शिविर नहीं लगाए जाएंगे। अतिरिक्त पुलिस आयुक्त दिनेश कुमार पी. ने यह निर्देश दिए हैं। इस दौरान पोपोटी के माध्यम से ट्रैफिक रूट की जानकारी साझा की गई। इस बार कांवड़ यात्रा के लिए एनएचएआई द्वारा 30 अतिरिक्त एंबुलेंस मुहैया कराई जाएंगी।

Share.

Leave A Reply