Date: 28/02/2024, Time:

अयोध्या में बने गुरू जम्भेश्वर जी महाराज का भी मंदिर

0

भगवान राम की अयोध्या में सभी देवी देवताओं और उनके भक्तों को पूर्ण स्थान और सम्मान प्राण प्रतिष्ठा में लगी समिति के साथ ही केंद्र व प्रदेश सरकार देने में कोई कोताही नहीं बरत रही है। वैसे तो कहा जाता है कि जहां विराजे राम वहीं है उनका स्थान फिर भी अयोध्या तो उनकी जन्म और कर्मभूमि रही। वर्तमान समय में पूरे विश्व की निगाह अयोध्या में होने वाले कार्यक्रमों और वहां देवी देवताओं को मिल रहे सम्मान और उनके मंदिरों की स्थापना व सौदर्यकरण से ऐसा लगता है कि पूरे देश की जनता की भावनाओं को सर्वसम्मत बनाने की कोशिश चल रही है।
इस संदर्भ में अखिल भारतीय बिश्नोई मिलन के महामंत्री अंकित बिश्नोई और अन्य कुछ बिश्नोई समाज के नेताओं की यह मांग समयानुकुल है कि भगवान विष्णु के ही अवतार गुरू जम्भेश्वर जी महाराज जो देश और विदेश के लाखों बिश्नोई समाज के लोगों की आस्था का प्रतीक है। कि भावनाओं का आदर करते हुए वहां निर्माण में लगी समिति के पदाधिकारियों को केंद्र प्रदेश सरकार के प्रतिनिधियों से विचार कर दुनियाभर को पर्यावरण एवं पेड़ पौधे बचाए रखने और जीव जंतुओं की रक्षा तथा हर प्रकार के नशे से दूर रहने का संदेश देने वाले भगवान गुरू जम्भेश्वर जी महाराज का मंदिर भी वहां स्थापित कराया जाए। यह वक्त की सबसे बड़ी मांग भी है और अपने मतों के माध्यम से उम्मीदवारों को विजय दिलाने में संतुलन बनाए रखने में सक्षम बिश्नोई समाज के नागरिकों की भावनाओं का आदर भी होगा। बिश्नोई समाज के लोगों को आगे बढ़कर माननीय प्रधानमंत्री जी और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ जी तथा ट्रस्ट समिति के पदाधिकारियों को हर प्रकार से अपनी इस इच्छा से अवगत कराना चाहिए।

Share.

Leave A Reply