Date: 22/06/2024, Time:

अयोध्या में रामलला के मुस्लिम पड़ोसी ने भंडारे की रसोई के लिए दी जमीन

0

अयोध्या 18 जनवरी। अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी को होनी है। इसके लिए तैयारी चल रही हैं। पूरी अयोध्या को सजाया जा रहा है। प्राण प्रतिष्ठा के दिन भंडारे का आयोजन किया जाएगा। जिसमें भारी संख्या में राम भक्त भंडारे में शामिल होंगे। अयोध्या में हिंदू मुस्लिम एकता की मिसाल एक बार फिर देखने को मिली। जहां भंडारा का आयोजन होगा। वह जमीन रामलला के पड़ोसी नूर आलम की है। नूर आलम को भगवान राम का पड़ोसी होने का गर्व है। उन्होंने बड़े ही उत्साह के साथ भंडारे के लिए अपनी जमीन दे दी है।

अयोध्या में हिंदू मुस्लिम एकता की मिसाल एक बार फिर देखने को मिली। राम जन्मभूमि परिसर से सटे नूर आलम की जमीन है। राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के दिन भंडारे का आयोजन किया जाएगा। इसके लिए रामलला के पड़ोसी नूर आलम की जमीन का चुनी गई है। भंडारे के लिए नूर आलम ने उत्साह पूर्वक अपनी जमीन राम मंदिर ट्रस्ट के आयोजकों को दे दी है। नूर आलम को रामलला का पड़ोसी होने का गर्व है। नूर आलम की ज़मीन पर इन दिनों काम चल रहा। कारीगर एक तरफ रसोई के लिए कमरों का निर्माण कर रहे हैं। तो वहीं दूसरी तरफ जमीन को समतल किया जा रहा है। यहां करीब 25 हजार लोगों का भंडारा रोज होगा। जिसके लिए भोजन बनाने की व्यवस्था उनकी जमीन पर होगी। इसके लिए यहां तैयारी चल रही है। यहां रसोई और शौचालय के लिए रात-दिन निर्माण जारी है। क्योंकि प्राण प्रतिष्ठा का आयोजन शुरू होने से पहले अयोध्या में लोगों की संख्या बढ़ने लगेगी। इन लोगों को यहां पर भोजन कराने की व्यवस्था की जा रही है।

अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा के दिन भंडारे के आयोजन के लिए नूर आलम ने अपनी जमीन देते हुए कहा कि मुझे आज इस बात की बहुत खुशी है कि अयोध्या के लिए प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री योगी जी ने जो विकास किया है। हमारे लिए शब्द ही नहीं है कि मैं क्या कह दूं। मुझे ऐसा भरोसा नहीं था कि कभी अयोध्या का ऐसा विकास होगा। उन्होंने कहा कि पड़ोसी होने के नाते उन्हें जो भी जिम्मेदारी दी जाएगी। उसे निभाने के लिए वह तैयार हैं।

Share.

Leave A Reply