Date: 18/07/2024, Time:

राहुल जी देश संभालना है तो दुविधा या धर्म संकट से दूर रहिए, कहां से रहना है सांसद फैंसला करिये

0

केन्द्र में सरकार भी बन गई विपक्ष भी मजबूत होकर उभरा है। आये चुनाव परिणामों से यह स्पष्ट हो गया है कि वर्तमान समय में सीट किसी को भी कितनी मिली हो आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी और कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी जी लोकप्रियता के शिखर पर है। क्योंकि इस समय हर जगह गांव हो या देहात मोदी मोदी या राहुल गांधी राहुल गांधी की ही चर्चा सुनाई दे रही है राष्ट्रीय स्तर पर। मोदी जी तो सरकार बना चुके है और राहुल गांधी जहां तक समझा जाता है जल्द ही विपक्ष के नेता बन जाएंगे। इसलिए लोकसभा में अब सत्ता और विपक्ष का अनेक मुद्दों को लेकर सामना होगा। ऐसे में राहुल गांधी जी को ना तो किसी भी मुद्दे को लेकर धर्म संकट में पड़ना चाहिए और ना निर्णय लेने में कमजोर होना।
गत दिनों उन्होंने कहा कि वाराणसी से प्रियंका चुनाव लड़ती तो मोदी लाखों वोटों से हार जाते क्या होता क्या नहीं यह तो उस समय ही पता चलता। पर अब इसकी सत्यता जानने हेतु पांच साल इंतजार करना पड़ेगा। इसलिए राहुल जी आपकी यह बात तो सही है कि मोदी जी की तरह भगवान से आपको सीधे गाईडनेश नहीं मिली। क्योंकि राजनीति में वोट देने वाली जनता ही भगवान है। इसलिए मेरा मानना है कि अब आपको देश में व्याप्त समस्याओं के समाधान के लिए संघर्ष करना है ऐसे में किसी भी धर्म संकट की स्थिति में फंसना आप जैसे जुझारू कर्मशील और जनमानस से जुड़े नेता के लिए सही भी है। वायनाड के मतदाताओं ने आपको कई बार जीताकर लोकसभा में भेजा है और रायबरेली में पहली बार सोनिया जी के वारिस के रूप में यहां के वोटरों ने आपको निर्वाचित कराया है दोनों ही जगह के मतदाता आपसे भावानात्मक रूप से जुड़े है इसलिए जो भी फैसला करना है चाहे वो रायबरेली हो या वायनाड के कर डालिये। आपके तो दोनों ही घर है प्रतिनिधित्व वायनाड का करे या रायबरेली का मतलब तो इन क्षेत्रों के नागरिकों की समस्याओं के समाधान से है जो आपके बयानों से पता चलता है कि दोनों ही आपके लिए एक समान है तो फिर सोचना क्यों?
प्रियंका गांधी जी को वायनाड से चुनाव लड़वाईये और जीतवाईये। दुविधा अथवा धर्म संकट में आप जैसे नेता ना ही रहे तो अच्छा है।
(प्रस्तुतिः अंकित बिश्नोई सोशल मीडिया एसोसिएशन एसएमए के राष्ट्रीय महासचिव एवं मजीठिया बोर्ड यूपी के पूर्व सदस्य संपादक व पत्रकार)

Share.

Leave A Reply