Date: 30/05/2024, Time:

पीएम मोदी ने देश की पहली अंडरवाटर मेट्रो को दिखाई हरी झंडी, पश्चिम बंगाल को दी 15400 करोड़ रुपये की सौगात

0

कोलकाता 06 मार्च। देश को आज यानी बुधवार को पहली अंडर वाटर मेट्रो मिल गई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोलकाता में इसका उद्घाटन किया. इसके अलावा पीएम मोदी ने कई अन्य परियोजनाओं का भी शिलान्यास और उद्घाटन किया. कुल मिलाकर पीएम मोदी बंगाल 15400 करोड़ रुपये की सौगात दी.

बता दें कि कोलकाता की अंडरवाटर मेट्रो का निर्माण हुगली नदी के नीचे कराया गया है.यह अंडरवॉटर मेट्रो रेल नदी और हावड़ा को कोलकाता शहर को जोड़ेगी. अंडरवाटर मेट्रो के उदघाटन के अलावा पीएम मोदी कवि सुभाष-हेमंत मुखोपाध्याय मेट्रो खंड और तारातला-माजेरहाट मेट्रो खंड का भी उद्घाटन किया.

ईस्ट-वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर के हिस्से के रूप में देश की पहली अंडरवाटर मेट्रो ट्रेन हावड़ा और एस्प्लेनेड के बीच चलेगी, जहां यात्रियों का स्वागत सुरंगों में नीली रोशनी से किया जाएगा, जब तक कि ट्रेनें हुगली नदी पार नहीं कर लेतीं. न्यू गरिया-हवाईअड्डा मार्ग का न्यू गरिया-रूबी अस्पताल क्रॉसिंग खंड और जोका-एस्प्लेनेड मेट्रो मार्ग पर तारातला-माझेरहाट खंड पूरा हो गया है और सार्वजनिक सेवा के लिए तैयार है.

ईस्ट-वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर को केंद्र की संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) सरकार ने 2008 में हरी झंडी दी थी और 2009 में इसकी आधारशिला रखी गई थी. ईस्ट-वेस्ट कोलकाता मेट्रो कॉरिडोर का सबसे गहरा स्टेशन हावड़ा मेट्रो स्टेशन है. इस स्टेशन की ऊंचाई लगभग 10 मंजिला इमारत के करीब है. यह देश का सबसे गहरा मेट्रो स्टेशन है.

कोलकाता मेट्रो के महाप्रबंधक पी उदय कुमार का कहना है कि ‘कोलकाता मेट्रो सभी तीन मेट्रो खंडों पर वाणिज्यिक सेवाएं शुरू करने के लिए पूरी तरह तैयार है.

मेट्रो रेल के मुताबिक, इस कॉरिडोर की पहचान 1971 में शहर के मास्टर प्लान में की गई थी. मेट्रो रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी कौशिक मित्रा ने कहा, ‘हावड़ा और कोलकाता, पश्चिम बंगाल के दो सदियों पुराने ऐतिहासिक शहर हैं और यह सुरंग हुगली नदी के नीचे से इन दोनों शहरों को जोड़ेगी.
हावड़ा मैदान और एस्प्लेनेड के बीच सुरंग की कुल लंबाई 4.8 किलोमीटर है। इसमें 1.2 किमी सुरंग हुगली नदी में 30 मीटर नीचे है, जो इसे किसी भी बड़ी नदी के नीचे देश की पहली परिवहन सुरंग बनाती है। इसके अलावा हुगली नदी के नीचे स्थापित हावड़ा मेट्रो स्टेशन, देश का सबसे गहराई में स्थित स्टेशन भी होगा। यह सुरंग ईस्ट-वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर परियोजना का एक हिस्सा है। कॉरिडोर में वर्तमान में साल्ट लेक सेक्टर पांच से सियालदह तक का हिस्सा व्यावसायिक रूप से परिचालन में है।

Share.

Leave A Reply