Date: 22/06/2024, Time:

पाकिस्तान ने ईरान में किया हमला, एयरस्ट्राइक में आतंकी ठिकानों को तबाह करने का दावा

0

इस्लामाबाद 18 जनवरी। ईरान की एयरस्टाइक के बाद अब पाकिस्तनी सेना ने उस पर पलटवार किया है. खबर है कि पाकिस्तानी वायु सेना ने पूर्वी ईरान में सरवन शहर के पास, पाकिस्तान की सीमा से सटे सिस्तान और बलूचिस्तान प्रांत में लगभग 20 मील अंदर पर एक बलूच आतंकवादी समूह के ठिकानों पर हवाई हमले किए हैं. पाकिस्तानी मीडिया में यह जानकारी देते हुए बताया गया कि इस हमले के बाद आतंकियों के ठिकाने पर भीषण आग लग गई, जिससे आसपास के इलाके में काफी धुआं फैल गया. उधर एएफपी ने मेहर समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के हवाले से बताया कि ईरान में इस मिसाइल और ड्रोन हमले में कई लोग घायल हुए हैं. हालांकि ईरान की तरफ से इन हमलों की कोई पुष्टि नहीं की गई है.

पाकिस्तानी समाचार वेबसाइट पाकिस्तान डेली के मुताबिक, पाकिस्तान ने ईरान में बलूच लिबरेशन आर्मी और बलूच लिबरेशन फ्रंट के ठिकानों को निशाना बनाया. इसने पाकिस्तानी एयरफोर्स की इस एयर स्ट्राइक के बाद का एक कथित फुटेज भी जारी किया है, जिसमें वहां एक बड़ा सा गड्ढा बना दिख रहा है. वीडियो में वहां घटनास्थल पर कई लोग टॉर्च लेकर खड़े दिख रहे हैं.
पाकिस्तानी पत्रकार गुलाम अब्बास शाह ने ट्वीट करते हुए बताया कि बलूच लिबरेशन फ्रेंट ने बयान जारी करके अपने कैंप पर हवाई हमलों की पुष्टि की है. उन्होंने आधिकारिक सूत्रों के हवाले से बताया कि पाकिस्तानी वायुसेना ने ईरान के सिस्तान-ब्लूचिस्तान प्रांत में 40 से 50 किलोमीटर के दायरे में मौजूद बीएलए के 7 ट्रैनिंग कैंप को निशाना बनाया है.

दरअसल ईरान द्वारा पाकिस्तान के अशांत बलूचिस्तान प्रांत में सुन्नी आतंकवादी समूह जैश-अल-अदल के ठिकानों पर मिसाइल और ड्रोन हमले किए जाने से पाकिस्तान खासा नाराज है. उसने इन हमलों के अगले दिन बुधवार को ईरान से अपने राजदूत को वापस बुला लिया था और इसके साथ सभी उच्च स्तरीय द्विपक्षीय यात्राएं सस्पेंड कर दी थी.
बता दें कि ईरान के मिसाइल और ड्रोन अटैक में 2 बच्चों की मौत और तीन लोगों के घायल होने की पुष्टि के बाद पाकिस्तान ने गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी तेहरान को दी थी.

पाकिस्तान विदेश मंत्रालय ने कहा था कि पाकिस्तान के पास इस “अवैध कृत्य” पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार है. इसके जो भी परिणाम होंगे, उसकी जिम्मेदारी पूरी तरह से ईरान की होगी.अब पाकिस्तान की तरफ से ईरान के कई इलाकों में हमला किया गया है, इसे बलूचिस्तान में किए गए हमलों के जवाब के रूप में देखा जा रहा है.

बता दें कि पाकिस्तान की चेतावनी के बाद ईरान ने अचानक अपने बॉर्डर पर फौज की तैनाती बढ़ा दी थी. माना जा रहा था कि पाकिस्तान की सेना आतंकियों को ढाल बनाकर ईरान के खिलाफ जवाबी कार्रवाई कर सकती है.

Share.

Leave A Reply