Date: 21/02/2024, Time:

ड्यूटी पर जा रहे मुजफ्फरनगर के दरोगा की हादसे में मौत

0

सिकंदराबाद 26 जनवरी। प्रधानमंत्री की जनसभा में ड्यूटी के लिए आए जनपद हापुड़ के देहात थाने के दरोगा की सिकंदराबाद में मौत हो गई। बुधवार रात कोहरे में उनकी कार डिवाईडर से टकरा गई थी। इस दौरान उन्हें नाक में चोट लगी थी। उपचार के बाद वह होटल चले गए थे। सुबह होटल के कमरे में वह मृत मिले। पुलिस ने होटल से सीसीटीवी फुटेज कब्जे में ले ली है।

हापुड़ देहात थाने के कांस्टेबल जोरावर सिंह और मोहित शर्मा ने बताया कि बुधवार को वह दरोगा रामपाल सिंह (55) के साथ पीएम ड्यूटी में चोला आए थे। रात में विश्राम के लिए वह चोला से कार से सिकंदराबाद में किसी होटल के लिए लौट रहे थे। रात्रि में कोहरा अधिक होने के कारण नेशनल हाईवे 34 पर गुर्जर चौक के पास उनकी गाड़ी डिवाइडर से टकरा गई। जिसमें दरोगा रामपाल सिंह के नाक पर चोट लग गई और उनके नाक से खून बहने लगा। उन्हें पास के ही नवीन हॉस्पिटल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया।

प्राथमिक उपचार के बाद कोई परेशानी नहीं होने के कारण वह सभी गुलावठी रोड स्थित एक होटल में चले गए। जहां पर रात्रि में सभी लोग सो गए। सुबह करीब सात बजे जब वह ड्यूटी पर जाने के लिए तैयार होने लगे तो दरोगा रामपाल को आवाज लगाने के बाद भी वह नहीं उठे। जब उन्होंने देखा तो उनके शरीर में कोई हरकत नहीं थी। उन्होंने उन्हें उपचार के लिए फिर से नवीन हॉस्पिटल पहुंचाया। वहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

बताया कि वह मूल रूप से जनपद मुजफ्फरनगर के थाना चरथावल क्षेत्र के गांव बिरालसी के निवासी थे। फिलहाल वह अपने परिवार के साथ सहारनपुर में रह रहे थे। पिछले 10 महीने से वह देहात थाने में तैनात थे। निरीक्षक ऋषिपाल सिंह ने बताया कि होटल की सीसीटीवी फुटेज को कब्जे में ले लिया गया है। मामले की जांच की जा रही है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम के बाद ही मौत के कारण के बारे में पता चल सकेगा। वहीं अस्पताल प्रबंधक अजीत सिंह ने बताया कि जब दरोगा रामपाल सिंह को अस्पताल लाया गया तो वह मृतक थे।

Share.

Leave A Reply