Date: 22/06/2024, Time:

प्राण प्रतिष्ठा के दौरान आक्रामकता से बचें मंत्री अनुकरणीय है मोदी का संदेश

0

भगवान राम की नगरी अयोध्या की चर्चा आज दुनिया के हर देश में हो रही है। कहीं इसको लेकर जागरूकता रैली निकल रही हैं तो कहीं 22 जनवरी को पूजन और त्योहार मनाने की तैयारियां होने की बात सामने आई है। अमेरिका के टाइम्स स्क्वायर से लेकर तमाम देशों में प्राण प्रतिष्ठा का सीधा प्रसारण दिखाई जाने की तैयारियां भारत सरकार का सांस्कृतिक मंत्रालय और दूरदर्शन पुरजोर कर रहा है तो 14 जनवरी को अयोध्या में स्वच्छता अभियान तथा 16 से शुरू होने वाले समारोह को हर स्तर पर सफल बनाने की तैयारियांें में यूपी सरकार कोई कसर नहीं छोड़ना चाह रही है। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा 22 जनवरी को प्रदेश में शराब की बिक्री पर रोक और स्कूल कॉलेजों में छुटटी घोषित की गई है। तो इस मौके पर विवाद से बचने के लिए पीएम मोदी द्वारा भाजपा नेताओं मंत्रियों जनप्रतिनिधियों से इस मौके पर आस्था रखने और आक्रामकता से दूर रहने का संदेश दिया गया है। जो इस बात का प्रतीक है कि सरकार प्रदेश की हो या केंद्र की वो इस आस्था के प्रतीक धार्मिक अवसर पर किसी भी प्रकार का विवाद नहीं चाहती। पीएम ने स्पष्ट कहा है कि माहौल बिगाड़ने का काम अगर विपक्ष अपने बयानों से करता है तो जवाबी आक्रामकता ना दिखाए। बयानबाजी से बचे और प्राण प्रतिष्ठा पर कहीं गडबड़ी ना हो इसके लिए जागरूक रहें। ग्रामीण कहावत कि फलदार वृक्ष निरंतर झुकता चला जाता है और अपने मीठे फलों से सबको ताकत ओैर अच्छी सोच तथा मीठे बोल बोलने का अवसर देता है। यह कहावत पीएम मोदी के संदेश को देखते हुए उन पर खरी उतरती नजर आ रही है क्योंकि इसमें छिपा है कि हम किसी को भी आहत ना करें और अपनी ताकत का प्रदर्शन करने से भी बचे जिससे सबको कोई भी गलत सोच साकार करने का अवसर प्राप्त ना हो। खबर में यह भी पता चलता है कि उन्होंने कहा कि पार्टी के झंडे बैनरों का उपयोग इस मौके पर ना करें। सब एक समान दिखाई दें।
मेरी निगाह में दुनिया में सर्वमान्य नेता के रूप में उभर रहे प्रधानमंत्री मोदी जी का यह संदेश एक अनुभवी ऐसे राजनेता का है जो अपने परिवार रूपी देश में जब यह सुअवसर हमें सैंकड़ों साल बाद मिला तो यह कोशिश में है कि इस अवसर पर स्वतंत्र रूप से सभी पूजा पाठ करें। और भगवान राम के प्रति जो हममंे समर्पण और भक्ति भाव है उसका महोत्सव मनाने के दौरान कहीं भी किसी को लेकर अमीर गरीब का विचार सामने ना आए। पीएम मोदी खासकर इस संदेश के लिए पूर्ण रूप से बधाई के पात्र हैं।

Share.

Leave A Reply