Date: 22/04/2024, Time:

पाक के पंजाब प्रांत में पहली महिला मुख्यमंत्री बनेंगी मरियम नवाज

0

लाहौर, 23 फरवरी। पाकिस्तान की राजनीति में बड़ा बदलाव आने के संकेत मिल रहे हैं। पहली बार पंजाब प्रांत में मुख्यमंत्री पद महिला को मिलेगा। पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी और पीएमएल-एन नेता मरियम नवाज पंजाब प्रांत में मुख्यमंत्री बनेंगी। बता दें कि बीते आठ फरवरी को पाकिस्तान में संसदीय और प्रांतीय चुनाव के लिए मतदान कराए गए थे। केंद्र में भी पीएमएल-एन गठबंधन सरकार बना रही है। पंजाब प्रांत में मरियम नवाज को सीएम पद की शपथ दिलाई जाएगी। इसी के साथ मरियम मुख्यमंत्री का पद संभालने वाली देश की पहली महिला नेता होने का गौरव भी हासिल करेंगी।

50 वर्षीय नेता मरियम पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) पार्टी की वरिष्ठ उपाध्यक्ष भी हैं। मरियम के शपथ ग्रहण की चर्चा इसलिए भी अधिक हो रही है क्योंकि आठ फरवरी को चुनावी नतीजों की घोषणा के बाद देश के पांच प्रांतों में पंजाब पहली प्रांतीय विधानसभा है, जिसका उद्घाटन सत्र बुलाने की घोषणा हो चुकी है। विधानसभा सत्र की शुरुआत के बाद नवनिर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलाई जाएगी। इसी के साथ नई सरकार का गठन शुरू होगा।

गवर्नर हाउस के प्रवक्ता ने गुरुवार को जारी बयान में कहा, पंजाब प्रांत के गवर्नर बालीघुर रहमान ने शुक्रवार को पंजाब विधानसभा का सत्र आहूत किया है। खबरों के मुताबिक मरियम को पहले ही मुख्यमंत्री को मिलने वाली सुरक्षा दी जा चुकी है। आमतौर पर मुख्यमंत्री को मिलने वाला प्रोटोकॉल मरियम को दे दिया गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक उन्होंने प्रांत में अलग-अलग पदों पर सेवा दे रहे नौकरशाहों के साथ बैठकें भी शुरू कर दी हैं।

कौन हैं मरियम नवाज?

28 अक्टूबर 1973 को लाहौर, पाकिस्तान में जन्मी मरियम नवाज नवाज शरीफ और बेगम कुलसुम नवाज की तीन संतानों में सबसे छोटी हैं। पाकिस्तान की राजनीति में एक प्रमुख हस्ती, मरियम ने अपनी शिक्षा लाहौर के कॉन्वेंट ऑफ जीसस एंड मैरी से प्राप्त की और बाद में बीकनहाउस स्कूल सिस्टम में दाखिला लिया। नवाज़ की बेटी की शादी देश के एक व्यवसायी और राजनीतिज्ञ मुहम्मद सफ़दर अवान से हुई है और दंपति के तीन बच्चे हैं। पार्टी के अध्यक्ष के रूप में चुने जाने पर मरियम ने 2013 के पाकिस्तान चुनावों में पीएमएल-एन को जीत दिलाई। अपने पिता के सलाहकार के रूप में उन्होंने 2008 में उनके पुन: चुनाव अभियान में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। तब उन्हें पंजाब पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था। 2017 में पनामा पेपर्स घोटाले के आलोक में पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने मरियम को सार्वजनिक पद संभालने से अयोग्य घोषित कर दिया था। अदालत ने फैसला सुनाया था कि वह भ्रष्टाचार और मनी लॉन्ड्रिंग में शामिल थी, हालांकि, उसने किसी भी गलत काम से इनकार किया और कहा कि वह निर्दोष थी।  उन्हें पाकिस्तान में एक मजबूत और करिश्माई नेता के रूप में देखा जाता है जो देश के सामने आने वाली चुनौतियों का सामना करने में सक्षम है। जिओ न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज के पास 842.58 मिलियन रुपये से अधिक की संपत्ति है। तीन बार के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी ने कागजात में बताया है कि उनके पास 17.5 लाख रुपये का सोना है। जबकि, उनके विभिन्न बैंक खातों में 10 मिलियन से अधिक रुपये हैं।

पंजाब विधानसभा चुनावों में पीएमएल-एन ने 137 सीटें हासिल कीं, जबकि पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) द्वारा समर्थित निर्दलीय उम्मीदवारों ने 113 सीटें जीतीं। लगभग 20 निर्दलीय, जो पीटीआई से संबद्ध नहीं हैं, पहले ही पीएमएल-एन के साथ गठबंधन कर चुके हैं।

Share.

Leave A Reply