Date: 28/02/2024, Time:

पाठ्यक्रमों में खेल कोटा लागू करने वाला पहला आईआईटी बना मद्रास

0

नई दिल्ली 03 फरवरी। आईआईटी यानी भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मद्रास अपने ग्रेजुए़ट कोर्सेस के लिए खेल कोटा लागू करने वाला पहला आईआईटी बन गया है. एकेडमिक सेशन 2024-25 से प्रत्येक कोर्स में इससे संबंधित दो एडिशनल सीट दिया जाएगा. यह जानकारी संस्थान के डाइरेक्टर वी कामकोटि ने दी. बता दें कि मौजूदा वक्त में आईआईटी में खेल कोटा नहीं है, जबकि दिल्ली यूनिवर्सिटी समेत देश के कई प्रमुख विश्वविद्यालयों में खेल कोटा है.

कामकोटि ने कहा, “एकेडमिक सेशन 2024-2025 से शुरू होकर, आईआईटी मद्रास स्पोर्ट्स एक्सलेंस एंट्री (एसईए) कोर्स के तहत भारतीय नागरिकों के लिए हर ग्रेजुएट कोर्स में दो एडिशनल सीट की पेशकश करेगा. हम खेल कोटा लागू करने वाले पहले आईआईटी हैं और इसका मकसद उन छात्रों को पुरस्कृत एवं प्रोत्साहित करना है, जिन्होंने अपनी पसंद के खेल में एक निश्चित स्तर की एक्सलेंस हासिल की है.” उन्होंने कहा, “हर एत कोर्स में दो सीट एसईए के जरिए से आवंटित की जाएंगी. एक सीट लिंग-तटस्थ होगी, दूसरी सीट केवल महिलाओं के लिए होगी”

एसईए के तहत एडमिशन पात्रता में कैंडिडेट्स ‘जेईई एडवांस्ड’ में ‘कॉमन रैंक लिस्ट’ या श्रेणीवार रैंक लिस्ट में स्थान प्राप्त किया हो और पिछले चार सालो में उन्होंने नेशनल या इंटरनेशनल लेवल पर किसी खेल कॉम्पिटिशन में कम से कम एक पदक जीता हो. कैंडिडेट्स को आईआईटी में एंट्री के लिए पात्रता मानदंड के मुताबिक 12वीं क्लास में न्यूनतम आवश्यक अंक प्राप्त करने होंगे. उन्होंने कहा, “खेलों की खास लिस्ट में उनके प्रदर्शन के बुनियाद पर कैंडिडेट्स द्वारा प्राप्त कुल स्कोर के आधार पर एक अलग खेल रैंक लिस्ट (एसआरएल) तैयार की जाएगी. सीट अलॉटमेंट सिर्फ केवल SRL के आधार पर किया जाएगा.”

यह विचार पिछले साल आईआईटी मद्रास द्वारा टॉप टेक्नोलॉजी की शीर्ष संस्था आईआईटी काउँसिल के सामने रखा गया था. निदेशक ने कहा, ‘‘खेल कोटा की अवधारणा भारत में हाईयर एजुकेशन सिस्टम में मौजूद है, लेकिन इसे अभी तक IIT में लागू नहीं किया गया है. सैद्धांतिक रूप में, सभी IIT ने इस प्रस्ताव का स्वागत किया था. जेईई एपेक्स बोर्ड के परामर्श से विस्तृत एग्जिक्यूशन के तौर-तरीके और समय-सीमा तैयार की गई थी.’’

बता दें कि इस साल JEE-एडवांस्ड का आयोजन IIT मद्रास कर रहा है. जिन खेलों के लिए कैंडिडेट्स कोटा के तहत एंट्री के लिए पात्र होंगे उनमें जलीय, एथलेटिक्स, शतरंज, क्रिकेट, बैडमिंटन, बास्केटबॉल, फुटबॉल, हॉकी, स्क्वैश, टेबल टेनिस, लॉन टेनिस, वॉलीबॉल और भारोत्तोलन शामिल हैं.

Share.

Leave A Reply