Date: 30/05/2024, Time:

कश्मीर भारत का मस्तक, ऊंचा उठा शीश ही विकास-सम्मान का प्रतीक : पीएम मोदी

0

श्रीनगर, 07 मार्च। अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को हटाने के बाद पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कश्मीर दौरे पर हैं। श्रीनगर के बक्शी स्टेडियम में श्विकसित भारत, विकसित जम्मू कश्मीर कार्यक्रम में शामिल हुए। इस दौरान प्रधानमंत्री कई विकास परियोजनाओं का अनावरण किया। पीएम मोदी रैली के दौरान 6400 करोड़ की 52 विकास परियोजनाओं का शुभारंभ व लोकार्पण किया। शहीदों के परिवार को प्रधानमंत्री ने नियुक्ति पत्र वितरित किए। पीएम मोदी ने राबिया मुस्तफा को नियुक्ति पत्र सौंपा। राबिया के पति कांस्टेबल सैफुल्ला कादरी एक आतंकी हमले में शहीद हुए थे। श्रीनगर के बख्शी स्टेडियम में विकसित भारत विकसित जम्मू कश्मीर कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोपियां, जम्मू, कुपवाड़ा, श्रीनगर, गांदरबल, बांदीपुरा, कठुआ और किश्तवाड़ के लाभार्थियों से बातचीत की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, एक जमाना था जब देश में जो कानून लागू होते थे वे कश्मीर में नहीं लागू हो पाते थे। एक जमाना था जब गरीब कल्याण की योजनाएं पूरे देश में लागू होती थी लेकिन जम्मू-कश्मीर के मेरे भाई बहन उनका लाभ नहीं ले पाते। अब देखिए वक्त ने कैसे करवट बदली है। आज श्रीनगर से आपके साथ ही पूरे भारत के लिए योजनाओं को आरंभ हुआ है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जम्मू-कश्मीर भारत का मस्तक है। ऊंचा उठा शीश ही विकास-सम्मान का प्रतीक होता है। उन्होंने लोगों से वेड इन इंडिया की अपील की। उन्होंने लोगों से कहा कि आप बाहर दूसरे देशों में शादी करते हैं, जिससे उस देश की इकोनॉमी मजबूत होती है। मैं ये मेहनत आपका दिल जीतने के लिए कर रहा हूं और आगे भी यह कोशिश जारी रहेगी। यह मोदी की गारंटी है। धरती के स्वर्ग पर आने का ये अहसास ये अनुभूति शब्दों से परे है। गांदरबल की हमीदा ने बताया कि एनआरएलएम स्कीम से जुड़कर एक गाय के साथ शुरुआत की थी। आज मैंने एक छोटी सी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट खोल ली है। जिसमें पाउच पैकिंग के अलावा, चीज और दही भी बनाती हूं। जम्मू कश्मीर के अलावा देश के 50 से ज्यादा शहरों के लोग हमारे साथ जुड़े हैं। सरकार ने 40 ऐसे स्थानों की पहचान की है जिन्हें अगले दो वर्ष में पर्यटनस्थल के रूप में विकसित किए जाएंगे। उन्होंने प्रवासी भारतीयों से कहा कि आप डॉलर लाओ या न लाओ, लेकिन अपने गैर भारतीय मित्रों को भारत भ्रमण के लिए प्रेरित करें।

Share.

Leave A Reply