Date: 18/07/2024, Time:

नकली शराब की फैक्ट्री पकड़े जाने पर झांसी के आबकारी निरीक्षक निलंबित

0

झांसी 14 मार्च। नकली शराब बनाकर लाइसेंसी दुकानों पर खपाने के काले कारोबार का बड़ा खुलासा हुआ है। इस मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उनके पास से बड़े पैमाने पर नकली शराब बनाने की सामग्री बरामद हुई है। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले सामने आए इस मामले में आबकारी मंत्री ने भी गंभीर रुख अपनाया है। उन्होंने झांसी के तत्कालीन आबकारी निरीक्षक को निलंबित कर दिया है। जबकि, विभागीय अफसरों से भी स्पष्टीकरण तलब किया गया है।

पुलिस ने बड़ागांव थाना इलाके के ग्राम बराठा के एक मकान में नकली शराब बनाने की फैक्टरी पकड़ी है। पुलिस की पड़ताल में सामने आया है कि फैक्टरी में बनने वाले नकली शराब के क्वार्टर हूबहू असली जैसे नजर आते थे और उन्हें मोंठ की लाइसेंसी शराब की दुकान पर बेचा जाता था। एसएसपी राजेश एस ने बताया कि पुलिस ने पांच आरोपी दिनेश राय, अशोक कुमार राजपूत, विवेक कुशवाहा, राजेंद्र राय व प्रशांत राजपूत को गिरफ्तार किया है। उनके पास से नकली शराब की 12 पेटी, 50-50 लीटर शराब के छह केन, 50 लीटर स्प्रिट /एल्कोहल जैसे तरल पदार्थ, एक बोरी खाली क्वॉर्टर, लगभग सात हजार ढक्कन, दस हजार रैपर व क्यूआर कोड और क्वॉर्टर के ढक्कन को सील करने वाली एक मशीन बरामद की है।

इस मामले को प्रदेश के आबकारी राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) नितिन अग्रवाल ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने इस पर गहरी नाराजगी जताते हुए झांसी के तत्कालीन आबकारी निरीक्षक शिशुपाल सिंह को तत्काल निलंबित कर दिया है। शिशुपाल सिंह अलीगढ़ में तैनात हैं। साथ ही झांसी के तत्कालीन जिला आबकारी अधिकारी प्रमोद गोयल व उप आबकारी आयुक्त सुभाष चंद्र सोनकर से स्पष्टीकरण तलब किया है।

Share.

Leave A Reply