Date: 22/04/2024, Time:

इनेलो के हरियाणा चीफ नफे सिंह की गोली मारकर हत्या, पूर्व विधायक नरेश कौशिक समेत सात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

0

बहादुरगढ़ 26 फरवरी। हरियाणा इनेलो के प्रमुख और पूर्व विधायक नफे सिंह राठी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। हुंडई आई10 गाड़ी से आए हमलावरों ने नफे सिंह राठी की फॉर्च्यूनर पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। बदमाशों ने 40-50 गोलियां चलाईं, जिनमें से 20 से ज्यादा गोलियां फॉर्च्यूनर को छेद कर गईं। इस घटना के बाद के वीडियो सामने आए हैं। वहीं इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष एवं पूर्व विधायक नफे सिंह राठी हत्याकांड  में पुलिस ने सात लोगों के खिलाफ नामजद और पांच अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

नफे सिंह राठी के कार चालक एवं उनके भांजे सेक्टर छह निवासी राकेश उर्फ संजय के बयान पर यह मामला दर्ज हुआ है। इसमें बहादुरगढ़ से पूर्व विधायक एवं भाजपा नेता नरेश कौशिक, चेयरपर्सन सरोज राठी के पति रमेश राठी, चाचा ससुर पूर्व चेयरमैन कर्मवीर राठी, देवर कमल राठी, पूर्व मंत्री मांगेराम राठी के पुत्र शतीश नंबरदार, पोते गौरव राठी व राहुल और पांच अन्य के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है। जीआरपी की बजाय लाइनपार थाने में यह मामला दर्ज किया है। फिलहाल हमलावरों का कोई सुराग नहीं लग सका है।

बहादुरगढ़ के बराही रेलवे फाटक के पास पहले से हमलावर घात लगाकर बैठे थे। जैसे ही वहां से पूर्व विधायक नफे सिंह राठी की फॉर्च्यूनर गुजरी, वैसे ही हुंडई आई10 में सवार हमलावरों ने उन पर फायरिंग कर दी। इस दौरान बदमाशों ने 40 से 50 राउंड फायरिंग की, जिनमें से 20 से ज्यादा गोलियां फॉर्च्यूनर को छेद कर गाड़ी में बैठे पूर्व विधायक राठी और उनके सुरक्षा कर्मियों को जा लगीं।

फॉर्च्यूनर की आगे वाली सीट पर राठी बैठे हुए थे, जबकि पिछली सीट पर दो सुरक्षा कर्मी बैठे थे। अचानक से चली गोलियों से उन्हें संभलने का मौका नहीं मिला और गाड़ी के अंदर बैठे राठी समेत चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। खून अधिक बह जाने की वजह से राठी और एक सुरक्षा कर्मी की तुरंत मौत हो गई, जबकि अन्य दो घायलों का अस्पताल में इलाज चल रहा है।
नफे सिंह राठी की हत्या के बाद के वीडियो सामने आए हैं। इस वीडियो में फॉर्च्यूनर में गोलियों के निशान दिखाई दे रहे हैं। राठी की गाड़ी में 20 से ज्यादा गोलियों के छेद हैं। इन गोलियों ने फॉर्च्यूनर को छेद कर अंदर बैठे लोगों को लहूलुहान कर दिया। गोलियों से फॉर्च्यूनर के शीशे भी चकनाचूर हो गए हैं।

पुलिस को दिए बयान में राकेश उर्फ संजय ने बताया कि उसके मामा नफे सिंह राठी आसौदा गांव से बहादुरगढ़ लौट रहे थे। मामा नफे सिंह साथ वाली सीट पर बैठे, गाड़ी में पीछे वाली सीट पर कबलाना निवासी संजीत व लाइनपार निवासी जयकिशन बैठे थे। जब हम बराही फाटक से पहले गाड़ी में आ रहे से तो उसने एक सफेद रंग की कार शीशे में पीछा करती दिखाई दी और कुछ आवाज भी आई तो उसने गाड़ी तेज करनी चाही, मगर फाटक सामने बंद दिखाई दी।

इस कारण उसने गाड़ी रोकी तो एकाएक पांच लड़के अपने हथियारों सहित सफेद कार से उतर कर आए और ललकारते हुए बोले कि आज इन्हें शतीश, कर्मबीर राठी, नरेश कौशिक से दुश्मनी करने का सबक सिखा दो। हमलावरों ने ताबड़तोड़ फायरिंग की। उसे बाई बाजू, बाई साथल व बाई पाशु में गोली लगी। उनमें से एक हमलावर ड्राइवर खिड़की पर आया व बोला तुझे जिंदा छोड़ रहे हैं। जाकर इनके घर बता देना कि नरेश कौशिक, कर्मवीर राठी, रमेश राठी, शतीश राठी, गौरव राठी, राहुल व कमाल के खिलाफ कभी भी किसी अदालत में गए तो सारे परिवार को मार देंगे। इसके बाद वे फरार हो गए। उसने अपने आप को संभाला तो देखा कि मामा नफे राठी व जयकिशन की मौत हो चुकी थी।

संजीत की हालत गंभीर हो चुकी थी। एक राहगीर ने उनकी गाड़ी को चलाकर उन्हें ब्रह्मशक्ति संजीवनी अस्पताल बहादुरगढ़ में लाया था। वह हमलावरों को खुद सामने आने पर पहचान सकता है। उसके मामा को षड़यंत्र करके मारा गया है।
थाना लाइनपार प्रभारी संदीप ने कहा कि पुलिस ने नफे सिंह राठी हत्याकांड में मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस ने चालक राकेश उर्फ संजय के बयान पर नरेश कौशिक, रमेश राठी, कर्मवीर राठी, कमल राठी, शतीश राठी, गौरव, राहुल व पांच अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

Share.

Leave A Reply