Date: 18/07/2024, Time:

रामोजी ग्रुप के संस्थापक और चेयरमैन रामोजी राव के पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन को उमड़ी भीड़

0

हैदराबाद 08 जून। रामोजी ग्रुप के संस्थापक और चेयरमैन रामोजी राव का शनिवार को देहांत हो गया. वह 87 साल के थे. उन्हें सांस लेने में तकलीफ होने के चलते 5 जून को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उन्होंने सुबह करीब पांच बजे अंतिम सांस ली. उनके पार्थिव शरीर को रामोजी फिल्म सिटी स्थित उनके दफ्तर में लाया गया है. यहां अंतिम दर्शन के लिए रामोजी ग्रुप के सदस्यों के साथ परिजनों और कई वीआईपी का पहुंचना शुरू हो गया. वहीं, नरेंद्र मोदी समेत कई हस्तियों ने ट्वीट कर रामोजी राव के निधन पर शोक जताया है. सोशल मीडिया पर रामोजी राव को श्रद्धांजलि अर्पित करने का सिलसिला जारी है. वहीं, मीडिया जगत में भी शोक की लहर छा गई है.

रामोजी ग्रुप के फाउंडर, मशहूर फिल्म प्रोड्यूसर और रामोजी फिल्म सिटी के मालिक रामोजी राव ने शनिवार की सुबह आखिरी सांस ली. रामोजी राव पिछले काफी समय से बीमार चल रहे थे और 5 जून को उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. उन्होंने रामोजी ग्रुप की नींव रखी थी, जिसमें दुनिया का सबसे बड़ा फिल्म स्टूडियो रामोजी फिल्म सिटी, ईटीवी नेटवर्क, डॉल्फिन हॉटल्स, मार्गदर्शी चिटफंड और ईनाडू तेलुगु अखबार भी आता है.

रामोजी राव का जन्म 16 नवंबर 1936 को आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले में हुआ था. उनके माता-पिता, वेंकट सुब्बाराव और वेंकट सुब्बाम्मा ने उनके दादा की याद में उनका नाम रामय्या रखा था. हालांकि उन्होंने बाद में नाम बदलकर “रामोजी” कर लिया. राव ने गुडीवाड़ा म्युनिसिपल हाई स्कूल से पढ़ाई की थी. जिसके बाद गुडीवाड़ा कॉलेज से बीएससी की डिग्री प्राप्त की.

साधारण परिवार में जन्मे रामोजी राव ने असाधारण उपलब्धियां हासिल कीं. अपनी शिक्षा पूरी करने के बाद, उन्होंने दिल्ली में एक विज्ञापन एजेंसी के लिए एक कलाकार के रूप में काम करते हुए अपना करियर शुरू किया. 10 अगस्त, 1974 को राव ने विशाखापत्तनम में तेलुगु दैनिक ईनाडु की स्थापना की. इस अख़बार ने तेज़ी से लोकप्रियता हासिल की और चार साल में एक प्रमुख प्रकाशन बन गया. यह इस साल अगस्त में अपनी 50वीं वर्षगांठ मनाएगा.

उन्होंने दुनिया के सबसे बड़े फिल्म स्टूडियो रामोजी फिल्म सिटी की स्थापना की और टेलीविजन चैनलों के ईटीवी नेटवर्क का भी नेतृत्व किया. राव मार्गदर्शी ग्रुप ऑफ़ कंपनीज़ के अध्यक्ष भी थे और मार्गदर्शी चिट फंड, प्रिया फ़ूड्स और कलंजलि सहित विभिन्न व्यवसायों की देखरेख करते थे.

राव को 2016 में तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा दूसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार, पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित कई गणमान्य लोगों ने रामोजी राव के निधन पर संवेदना प्रकट की है.

Share.

Leave A Reply