Date: 15/06/2024, Time:

बंधक बनाकर लोगों से रंगदारी वसूलने वाले गिरोह का भंडाफोड़, महिला के साथ अश्लील फोटो खींच करते थे ब्लैकमेल

0

मुरादाबाद 27 मई। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में पुलिस ने बंधक बनाकर रंगदारी वसूलने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है. पुलिस के मुताबिक इस गिरोह की सरगना एक महिला है, जो अपने साथियों के साथ मिलकर लोगों को बंधक बना कर उनके साथ अपने अश्लील फोटो खिंचवाती थी. फिर यह गिरोह उस व्यक्ति को ब्लैकमेल कर उस से रंगदारी वसूलता था. एक पीड़ित व्यक्ति ने इसकी शिकायत की तो पुलिस ने जाँच में पाया की यह गिरोह संगठित होकर इस धंधे में लगा हुआ है पुलिस ने एक महिला सहित गिरोह के चार सदस्यों को गिरफ्तार किया है. मामला मुरादाबाद के मझोला थाना इलाके का है.

मुरादाबाद के मझोला थाना इलाके के एक गिरोह ने मूंढापांडे क्षेत्र के रहने वाले इस्लाम अली का अपहरण कर लिया था. गिरोह ने एक मुस्लिम महिला के साथ अश्लील फोटो खींचकर पांच लाख रुपये की रंगदारी मांगने की कोशिश की तो इस्लाम ने इसकी शिकायत पुलिस में कर दी. पुलिस ने जांच शुरू की तो पता चला की यह गिरोह षड्यंत्र रच कर ब्लैकमेलिंग और वसूली का काम करता है. पुलिस की टीम ने गिरोह की सरगना महिला सहित चार सदस्यों को धर दबोचा.

इस मामले की मझोला पुलिस की टीम ने बारीकी से छानबीन की है. रविवार को पुलिस की टीम ने मझोला क्षेत्र के निवासी आसिम उर्फ सोनू, गयासुद्दीन निवासी महलकपुर माफी, अब्दुल रहीम निवासी हासमपुर चौराहा, साजिया पत्नी स्व, मुजम्मिल निवासी आजाद नगर को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने बताया कि साजिया के पहले पति की मौत हो चुकी है, वह आजाद नगर में अंसार हुसैन के साथ रहती है. अंसार भी इस गिरोह का सदस्य है. सरगना की बहन सानिया पुलिस को चकमा देकर फरार हो गए. चारों आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने इस्लाम अली को मुक्त कराया.

पुलिस ने गिरोह में शामिल महिला सहित दो अन्य लोगों को तलाश कर रही है. मुरादाबाद के एसपी सिटी अखिलेश भदौरिया ने बताया कि 25 मई को मूंढापांडे थाना क्षेत्र के खरकपुर जगतपुर गांव के अहसान अली ने मझोला थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी. आरोप था कि 24 मई को उसके भाई इस्लाम अली को दो बाइक सवार अज्ञात व्यक्ति अपहरण कर ले गए थे. उन्होंने इस्लाम को बंधक बना लिया है.

गिरफ्तार आरोपियों ने पुलिस को बताया कि उनका गिरोह अमीर लोगों को अपना शिकार बनाता है. उन्हें किसी बहाने घर बुलाकर बंधक बनाया जाता है. सानिया के साथ अश्लील फोटो खींची जाती है. इसके बाद उससे रंगदारी की मांग की जाती है. इस गिरोह को सूचना मिली थी कि इस्लाम अली ने प्लॉट बेचकर पैसा कमाया है. वह झाड़ फूंक का काम करता है. इस्लाम को महिला का इलाज कराने का झांसा देकर आजाद नगर में अंसार के घर बुला कर बंधक बनाया गया था. उसके साथ अश्लील फोटो खींचकर परिवार से पांच लाख की रंगदारी मांगी जा रही थी.

पुलिस ने आरोपियों के पास से दो तमंचे और दो कारतूस, एक चाकू, मोबाइल फोन, बाइक और एक स्कूटी बरामद की है. पुलिस ने आरोपियों को कोर्ट में पेश किया. इसके बाद अदालत के आदेश पर चारों को जेल भेज दिया गया . इस मामले में पुलिस आजाद नगर निवासी अंसार और हरथला नया गांव निवासी सानिया को गिरफ्तार करने के लिए छापा मार कार्रवाई रही है.

Share.

Leave A Reply