Date: 30/05/2024, Time:

पूर्व नौसेना प्रमुख एडमिरल रामदास का 90 साल की उम्र में निधन

0

हैदराबाद 16 मार्च। भारतीय नौसेना के पूर्व प्रमुख एडमिरल (सेवानिवृत्त) एल. रामदास का उम्र संबंधी बीमारियों के चलते यहां के एक सैन्य अस्पताल में 90 वर्ष की आयु में निधन हो गया। उनकी बेटी सागरी आर. रामदास ने बताया कि रामदास को 11 मार्च को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और गत सुबह उन्होंने अंतिम सांस ली। उन्होंने कहा, ‘‘ स्वास्थ्य ठीक नहीं होने के कारण वह लगभग नौ महीने पहले हैदराबाद में मेरे साथ रहने आ गए थे।” उन्होंने बताया कि अंतिम संस्कार 16 मार्च को हैदराबाद में किया जाएगा।

एडमिरल रामदास के परिवार में उनकी पत्नी ललिता रामदास और तीन बेटियां हैं। उन्होंने 30 नवंबर 1990 को भारतीय नौसेना के 13वें प्रमुख (सीएनएस) के रूप में पदभार संभाला था और 1993 में सेवानिवृत्त हो गए थे। एडमिरल लक्ष्मीनारायण रामदास सेवानिवृत्ति होने के बाद महाराष्ट्र के अलीबाग में रहने लगे थे।

मुंबई के माटुंगा में पांच सितंबर 1933 को जन्मे रामदास ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा दिल्ली में ‘प्रेजेंटेशन कॉन्वेंट’ और रामजस कॉलेज से की थी। वह देहरादून स्थित सशस्त्र बल अकादमी की संयुक्त सेवा शाखा में 1949 में शामिल हुए और सितंबर 1953 में उन्हें भारतीय नौसेना के एक अधिकारी के रूप में नियुक्त किया गया। उन्हें संचार विशेषज्ञ के रूप में प्रशिक्षित किया गया था।

उनकी बेटी सागरी रामदास ने बताया कि सेवा में रहते हुए उनके पिता की कुछ प्रमुख उपलब्धियों में कोचीन में नौसेना अकादमी की स्थापना, 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले आईएनएस ब्यास की कमान संभालना, पश्चिमी जर्मनी के बॉन में भारतीय नौसेना अताशे के रूप में सेवा (1973-76) देना, नौसेना की पूर्वी कमान के फ्लीट कमांडर के रूप में सेवा देना और नौसेना की दक्षिणी तथा पूर्वी कमान पर मोर्चा संभालना शामिल है।भारतीय नौसेना प्रमुख के रूप में उनके कार्यकाल के दौरान ही सशस्त्र बलों में महिलाओं की भर्ती की शुरुआत हुई, जिसमें नौसेना अग्रणी रही। एडमिरल रामदास सेवानिवृत्ति होने के बाद महाराष्ट्र के अलीबाग में भाईमला गांव में रहने लगे थे। वह और उनकी पत्नी ललिता रामदास जैविक खेती करने लगे और जन सेवा गतिविधियों में भी हिस्सा लेते थे।

Share.

Leave A Reply