Date: 21/02/2024, Time:

दोहरे हत्याकांड का खुलासा: पति को प्रेमिका से बात करते हुए रंगे हाथ पकड़ा, पत्नी और बेेटी को बैट से पीटकर की हत्या

0

ललितपुर 09 जनवरी। ललितपुर में पत्नी ने पति को रंगे हाथ प्रेमिका से बात करते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया। गुस्साए पति ने पत्नी को बैट से पीटकर मार डाला। इसके अलावा बेटी का गला दबाकर हत्या कर दी।
मामला ललितपुर शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला चांदमारी का है। रविवार देर रात करीब 2 बजे प्रेमिका से युवक बात कर रहा था। पत्नी ने विरोध किया तो पत्नी और 1 साल की बेटी की निर्ममतापूर्वक हत्या कर दी। इसके बाद लूटपाट और हत्या का रूप दिया। उसने अपना सिर दीवार से मारकर खुद को घायल कर ‌दिया।
सामान को चारो तरफ से बिखेर दिया। जब पुलिस ने जांच की तो वह फंस गया। सख्ती से पूछताछ करने पर युववक ने अपना जुर्म कबू लिया। पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया कि चांदमारी का रहने वाला नीरज कुशवाहा 27 शादियों में सजावट का काम करता है। उसका एक लड़की से प्रेम प्रसंग चल रहा है।

पत्नी मनीषा इसका विरोध करती थी। रविवार देर रात वह मोबाइल पर प्रेमिका से बात कर रहा था। मनीषा की नींद खुल गई। पत‌ि को प्रेमिका से बात करते देखा तो उसने विरोध किया। इस बात पर दोनों में झगड़ा शुरू हो गया। बात बढ़ गई। रविवार देर रात वह मोबाइल पर प्रेमिका से बात कर रहा था। मनीषा की नींद खुल गई। गुस्सा होकर नीरज कमरे में रखे बैट से हमला कर दिया। बैट से इतना पीटा की वह मर गई। इसी दौरान उसकी 1 साल की बेटी निपेक्षा जाग गई। नीरज ने उसको भी गला दबाकर मार डाला। पत्नी और बेटी की हत्या के बाद नीरज ने खुद को बचाने के लिए षड्यंत्र रचा। अलमारी में रखे सामान को फैलाकर खून से बने बैट को छिपा दिया।

अपना सिर दीवार से मारकर खुद को घायल कर दिया। इसके बाद सुबह करीब 5 बजे उसने अपने मित्र को मोबाइल पर बात करके बताया। घर में आधा दर्जन नकाबपोश बदमाशों ने लूटपाट कर उसकी पत्नी और बेटी की हत्या कर दी। उसे मार पीटकर घायल कर दिया। यह सुनकर उसका दोस्त और मोहल्लेे के लोग घर पर पहुंचे। नीरज को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। एसपी मोहम्मद मुश्ताक, एएसपी अनिल कुमार सहित पुलिस बल मौके पर पहुंचकर जांच की।

दोहरे हत्याकांड का खुलासा करने से एसपी ने एएसपी और सीओ सदर के नेतृत्व में 6 टीमों का गठन किया। मोहल्ले और आसपास के घरों में लगे CCTV कैमरे खंगाले गए। किसी भी फुटेज में बदमाश नहीं दिखे। इसकी वजह से पुलिस को नीरज पर शक हुआ। उसे हिरासत में ले लिया। पूछताछ में वह टूट गया और उसने दोनों हत्या का जुर्म कबूल लिया।

Share.

Leave A Reply