Date: 20/02/2024, Time:

‘29 फरवरी के बाद भी पेटीएम करो’

0

नई दिल्ली, 05 फरवरी। पेटीएम को लेकर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने 31 जनवरी को बड़ा फैसला लिया था। आरबीआई ने पेटीएम की बैंकिंग सेवाओं पर रोक लगा दी है। आरबीआई की तरफ से कहा गया कि 29 फरवरी के बाद से पेटीएम पेमेंट बैंक सर्विस बंद हो जाएगी। इसके बाद लोगों के मन में पेटीएम को लेकर कई सारे सवाल हैं। हर कोई जानना चाहता है कि पेटीएम की कौन सी सर्विस चालू रहेगी। सीईओ विजय शेखर शर्मा ने साफ किया कि 29 फरवरी के बाद भी पेटीएम ऐप चलता रहेगा। कहा गया कि आरबीआई के निर्देशों पर पेटीएम के ग्राहकों को चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। क्योंकि ऐप चलता रहेगा।

पेटीएम के सीईओ विजय शेखर ने एक्स पर लिखा, पेटीएम के हर यूजर के लिये उनका पसंदीदा ऐप काम कर रहा है और वह 29 फरवरी के बाद भी वैसे ही काम करता रहेगा। पेटीएम की टीम के हर सदस्य के साथ मैं आपके निरंतर सहयोग के लिये आपको सलाम करता हूँ। उन्होंने आगे लिखा कि हर चुनौती का एक समाधान होता है और हम पूरे अनुपालन के साथ अपने देश की सेवा करने के लिये प्रतिबद्ध हैं। पेमेंट में इनोवेशन और वित्तीय सेवाओं में समावेशन के लिये भारत को दुनिया भर में प्रशंसा मिलती रहेगी और पेटीएम करो उसका सबसे बड़ा समर्थक होगा।

कौन-कौन सी सर्विस चालू रहेगी?
पेटीएम और उसकी सेवाएं 29 फरवरी के बाद भी चालू रहेंगी, क्योंकि पेटीएम द्वारा दी जा रही ज्यादातर सेवाएं सिर्फ असोसिएट बैंक के साथ ही नहीं, बल्कि विभिन्न बैंकों के साथ भागीदारी में हैं।
पेटीएम को सूचित किया गया है कि इससे यूजर्स के बचत खातों, वालेट्स, फास्टैग्स और एनसीएमसी खातों में जमा राशि प्रभावित नहीं होगी। इनमें वे मौजूदा शेष राशि का इस्तेमाल जारी रख सकते हैं।
पेटीएम के एसोसिएट बैंक के सम्बंध में आरबीआई के हाल के निर्देश इक्विटी, म्यूचुअल फंड्स या एनपीएस में पेटीएम मनी लि. (पीएमएल) के परिचालन या ग्राहकों के निवेश को प्रभावित नहीं करेंगे।
पेटीएम की दूसरी वित्तीय सेवाएं, जैसे कि ऋण वितरण एवं बीमा वितरण किसी भी तरह से उसके
एसोसिएट बैंक से जुड़ी नहीं हैं और सामान्य रूप से चालू रहेंगी।
पेटीएम के ऑफलाइन मर्चेंट पेमेंट नेटवर्क की पेशकशें, जैसे कि पेटीएम क्यूआर, पेटीएम साउंडबॉक्स, पेटीएम कार्ड मशीन सामान्य रूप से जारी रहेंगी और नये ऑफलाइन व्यापारियों को शामिल भी किया जा सकता है।
पेटीएम ऐप पर मोबाइल रिचार्जेज, सब्सक्रिप्शंस और बार-बार होने वाले दूसरे भुगतान आसानी से चलते रहेंगे।

Share.

Leave A Reply