Date: 22/04/2024, Time:

सिपाही ने शादी का झांसा देकर महिला से किया दुष्कर्म, पति बन कराया गर्भपात

0

आगरा 16 फरवरी। ताजनगरी में खाकी एक बार फिर शर्मसार हुई है। सदर थाने ने तैनात सिपाही और उसके स्वजन पर दुष्कर्म, कुकर्म और अश्लील वीडियो बना ब्लैकमेल करने की धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ है। सिपाही ने शहीद नगर की रहने वाली महिला को शादी का झांसा देकर शोषण और गर्भपात कराया था। सिपाही जिस थाने में तैनात है अब उसी थाने से उसे जेल जाना होगा।

सदर के शहीद नगर क्षेत्र की रहने वाली महिला ने बताया, 2018 में विवाह के बाद 2019 में ससुरालियों ने निकाल दिया था। मुकदमा दर्ज कराने के बाद योगेंद्र सिंह नामक सिपाही एक अन्य के साथ घर पर मुकदमे के कागज लेकर आया था। कागजों में से उसने पीड़िता का नंबर ले लिया। इसके बाद संदेश भेजना शुरू कर दिया। जिस जिम में वो व्यायाम के लिए जाती थी, सिपाही भी वहां उसी समय आने लगा।

मुकदमे के बारे में जानकारी लेने के बहाने उससे दोस्ती कर ली। प्यार का इजहार करते हुए शादी के लिए कहा। पीड़िता ने खुद के तलाकशुदा और एक बच्ची होने का हवाला दिया। सिपाही के स्वजन ने शादी के लिए न तैयार होने की बात कहकर प्रेम संबंध बनाने से इंकार कर दिया। सिपाही ने परिवार की मर्जी के बिना भी शादी करने के लिए तैयार होने की बात कही।

सिपाही ने अपने जीजा विमलेश से बात कराई। जीजा ने परिवार से बात कर दोनों की शादी कराने का आश्वासन दिया। इसके बाद सिपाही योगेंद्र उसे अपने जानकार के होटल ले गया। फर्जी आईडी पर कमरा लिया और उसे कोल्डड्रिंक में नशीला पदार्थ पिला दिया। बेसुध होने पर सिपाही ने उसके साथ संबंध बनाए। उसकी वीडियो रिकार्डिंग कर ली। होश आने पर जब विरोध किया तो शादी का वादा कर उसे चुप करा दिया।
वीडियो के दम पर उसको कई बार अलग – अलग स्थानों पर बुलाकर दुष्कर्म और कुकर्म किया। गर्भवती होने पर खुद पति बनकर लेडी लायल चिकित्सालय ले गया और खुद की आर्थिक स्थिति का हवाला देकर गर्भपात करा दिया। इस दौरान जीजा के नाम पर उससे डेढ़ लाख रूपये भी उधार ले लिए।

पीड़िता ने बताया कि दिसंबर माह में वो अपने घर कानपुर देहात के सिहूरा गांव गया। लौट कर आया और उसके साथ संबंध बनाए। गर्भवती होने का शक हुआ तो निजी लैब में अल्ट्रासाउंड करवाया। गर्भ न होने की पुष्टि के बाद उससे बात करना बंद कर दिया। फोन करने पर गलियां देने लगा और अश्लील वीडियो प्रसारित करने की धमकी देने लगा। जीजा को शिकायत की तो जीजा ने भी कोई मदद करने से इंकार कर दिया। इसी दौरान आरोपित योगेंद्र छुट्टी लेकर गया और राजस्थान में जाकर गुपचुप शादी कर ली।

पीड़िता ने बताया कि थाना सदर में शिकायत करने पर कोई सुनवाई नहीं हुई। 15 जनवरी को पुलिस आयुक्त जे. रविन्दर गौड से शिकायत की। पांच बार उनके पास गई। डीजीपी को मेल कर शिकायत की। एक माह तक जांच चली। कई बार सिपाही ने धमकाया और कई बार प्रलोभन दिए । आखिरकार महिला की शिकायत पर योगेंद्र सिंह,विमलेश कुमार,जगत सिंह और जगत की पत्नी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

Share.

Leave A Reply