Date: 22/06/2024, Time:

कांग्रेस सांसद डीके सुरेश को दिखाए बाहर का रास्ता, समाप्त की जाए सदस्यता

0

विभिन्न करों से एकत्रित हो रही धनराशि वितरण के मामले में दक्षिण राज्यों के साथ हो रहे अन्याय को दूर नहीं किया गया तो दक्षिण राज्य एक अलग राष्ट्र की मांग करने को मजबूर हो जाएंगे। बंगुलुरू ग्रामीण क्षेत्र से कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार के भाई डीके सुरेश द्वारा यह शब्द भले ही किसी संदर्भ में कहे गए हों लेकिन इसे किसी भी तरह देशहित में नहीं कहा जा सकता। वैसे तो कांग्रेस के अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने स्पष्ट किया है कि कांग्रेस देश की अखंडता के प्रति समर्पित है और इस प्रकार किसी आवहान को बर्दाश्त नहीं करेगी तो सदन में नेता पीयूष गोयल ने इस मुददे को उठाते हुए कहा कि कांग्रेस नेता डीके सुरेश को एक मिनट के लिए भी संासद बने रहने का अधिकार नहीं है। यह खुलेआम भारत को तोड़ने की बात कर रहे हैं। मेरा भी मानना है कि कांग्रेस सांसद डीके सुरेश को अपने कथन के लिए बिना शर्त देश से माफी मांगनी चाहिए और अपने पद से इस्तीफा देकर दोबारा अपने क्षेत्र की जनता से विश्वास प्राप्त करने हेतु उनके बीच जाना चाहिए। उन्हें पता चल जाएगा कि उन्होनंे उक्त शब्द कहकर कितना बड़ा अपराध किया है।
मैं किसी विशेष व्यक्ति के लिए नहीं कह रहा हूं लेकिन जब कुछ लोग ऐसे शब्दों का उच्चारण करते हैं तो उन्हें देश की सुरक्षा के दृष्टिकोण से कभी आतंकवादी अलगाववादी नक्सलवादी कहा जाता है। इसलिए भाजपा सांसदों की यह बात बिल्कुल सही है कि यह भारत को तोड़ने की बात है। तथा देश की प्रभुसत्ता की रक्षा करने की जो शपथ ली गई उसका भी उल्लंघन है। मेरा मानना है कि कुछ ही दिनों में लोकसभा चुनाव होने वाले है। इनकी जगह कोई और जीतकर आ जाएगा। कांग्रेस की प्रमुख नेता सोनिया गांधी, राहुल गांधी व प्रियंका गांधी सहित अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे को बिना कोई जवाब मांगे इन्हें अपनी पार्टी से निकालने के साथ ही उनकी सांसदी निर्वाचन केंद्रीय कानून मंत्री गृह मंत्रालय और लोकसभा अध्यक्ष द्वारा तुरंत समाप्त की जाए। क्योंकि अगर डीके सुरेश के मामले में थोड़ी सी भी नरमता बरती गई तो और भी लोग अलगाववाद की बात खुलकर कर सकते हेैं।

Share.

Leave A Reply