Date: 23/07/2024, Time:

98 कालेजों में बीटेक दाखिले के लिए 12वीं में केमिस्ट्री अनिवार्य नहीं

0

नई दिल्ली 18 जून। शैक्षणिक सत्र 2024-25 में एनआईटी, आईआईआईटी समेत 98 केंद्रीय वित्त पोषित संस्थानों में बीटेक दाखिले के लिए 12वीं में कैमिस्ट्री अनिवार्य विषय नहीं है। देश के इन दिग्गज प्रौद्योगिकी संस्थानों में कैमिस्ट्री की जगह बायोलॉजी, बायोटेक्नोलॉजी या फिर टेक्निकल वोकेशन विषय होने पर भी बीटेक और बीई में दाखिला मिल जाएगा। इन संस्थानों में दाखिले के लिए पात्रता मापदंड के तहत 12वीं कक्षा के छह विषयों में से पांच विषय में सफल होना जरूरी है।

जोसा काउंसलिंग-2024 के तहत इन दिग्गज प्रौद्योगिकी संस्थानों में दाखिले के लिए पंजीकरण और च्वाइस फिलिंग के लिए मंगलवार शाम पांच बजे तक आखिरी मौका है। पंजीकरण के साथ-साथ छात्र अपने मनपसंद संस्थान व कोर्स के लिए च्वाइस फिलिंग करें। इसके बाद ऑटो /सिस्टम लॉकिंग ऑफ च्वाइस का विकल्प अवश्य प्रयोग करें। अन्यथा कोर्स और संस्थान मिलने में दिक्कत हो जाएगी। पंजीकरण के साथ ही पहली बार फीस भी जमा करने का प्रावधान किया गया है। 12वीं कक्षा के पात्रता मापदंड के तहत छात्र के पास 75 फीसदी अंक या प्रदेश शिक्षा बोर्ड के टॉप 20 पर्सेंटाइल में शामिल होना जरूरी है। सीट के समय इन दोनों में से किसी एक में क्वालिफाई करना जरूरी होगा। आईआईटी और एनआईटी में दाखिले की पहली कटऑफ 20 जून को जारी होगी।

एनआईटी और आईआईआईटी समेत कुछ अन्य कॉलेजों में 50 फीसदी सीट गृह राज्य आरक्षण वाले छात्रों के लिए आरक्षित रहती हैं। छात्र ध्यान दें कि उन्हें अपने विकल्प में होम स्टेट कोटा में जिस राज्य से उन्होंने अपनी 12वीं कक्षा उत्तीर्ण की होगी, उसकी जानकारी दें। अन्यथा लाभ नहीं मिलेगा। एनआईटी दिल्ली में चंडीगढ़ के छात्रों को भी होम स्टेट कोटे का लाभ मिलेगा। एनआईटी श्रीनगर में 90 फीसदी सीट जम्मू-कश्मीर के छात्रों के लिए आरक्षित तो 10 फीसदी सीट लद्दाख के छात्रों को दी जाएंगी।

कटऑफ में नाम आने पर छात्र फ्लोट (दूसरे संस्थान और दूसरी ब्रांच में भी जा सकते हैं), स्लाइड ( दूसरे राउंड में जाकर पहली कटऑफ वाले संस्थान में ही अन्य ब्रांच लेनी है) या फ्रीज (सीट पक्की कर ली है, अगले राउंड में नहीं जाना है) में से एक विकल्प चुनना अनिवार्य है। आरक्षित वर्गों के छात्रों को एक अप्रैल 2024 से आगे के डॉक्यूमेंट देने होंगे।

Share.

Leave A Reply