Date: 20/02/2024, Time:

वसुंधरा हादसे में हुई दो हेड कॉन्स्टेबलों की मौत में हत्या का केस दर्ज, बिल्डर समेत दो गिरफ्तार

0

गाजियाबाद 10 जनवरी। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में पुलिसकर्मियों की मौत के मामले में नया खुलासा सामने आया है। वसुंधरा पुलिस चौकी के पास हुए सड़क हादसे में गई दो हेड कॉन्स्टेबलों की मौत मामले में पुलिस ने हत्या का केस दर्ज किया है। हादसे में जान गंवाने वाले यूपी पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल जगबीर के पिता घनश्याम ने बिल्डर व उसके साथी समेत कई लोगों के खिलाफ कार से कुचलकर हत्या करने का आरोप लगाते हुए इंदिरापुरम थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। इसके बाद पुलिस ने आरोपी बिल्डर और चालक को गिरफ्तार कर लिया है। उधर, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट भी सामने आ गई है। उसमें दोनों की मौत हादसे में चोट लगने से हुई बताया गया है। घनश्याम सिंह ने इंदिरापुरम थाने में दर्ज कराई रिपोर्ट में बताया कि उनके बेटे हेड कॉन्स्टेबल जगबीर सिंह की ड्यूटी शालीमार गार्डन निवासी बिल्डर निखिल चौधरी की सुरक्षा में लगी हुई थी।

दर्ज कराई गई रिपोर्ट में कहा गया है कि रविवार रात जगबीर और दिल्ली पुलिस का हेड कॉन्स्टेबल जय ओम शर्मा बिल्डर निखिल चौधरी के साथ उनकी इनोवा कार में मौजूद थे। कार को निखिल खुद चला रहा था और उसका साथी मनोज शर्मा कार में जगबीर के बराबर में बैठा हुआ था। हादसे में उनके बेटे जगबीर और दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल की मौत हो गई जबकि बाकी लोगों को कुछ नहीं हुआ। उनके बेटे का शव 70 मीटर पहले रोड पर पड़ा मिला, जबकि दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल का शव कार में पाया गया।
शिकायतकर्ता के मुताबिक, उनका बेटा जगबीर चालक वाली सीट के पीछे बैठा हुआ था, जबकि दिल्ली पुलिस का हेड कॉन्स्टेबल चालक के बराबर वाली सीट पर बैठा था। ऐसे में सवाल उठता है कि हादसे में केवल दोनों हेड कॉन्स्टेबल की ही मौत कैसे हुई, जबकि अन्य किसी को चोट तक नहीं लगी। इंदिरापुरम थाने में दर्ज कराई रिपोर्ट में घनश्याम ने आरोप लगाया कि बिल्डर निखिल चौधरी ने अपने साथी मनोज शर्मा और अन्य लोगों के साथ मिलकर उनके बेटे और दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल की कार से कुचलकर हत्या कर दी।
डीसीपी ट्रांस हिंडन निमिष पाटील ने बताया कि इस मामले में शिकायत के आधार पर हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है। मामले में नामजद बिल्डर व उसके साथी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Share.

Leave A Reply