Date: 15/06/2024, Time:

फर्जी सिंबल प्रकरण में सपा प्रत्याशी समेत दो पर केस

0

बरेली,22 अप्रैल। आंवला लोकसभा सीट से खुद को बहुजन समाज पार्टी का उम्मीदवार बताकर नामांकन दाखिल करने वाले सत्यवीर सिंह और समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार नीरज मौर्य के खिलाफ कोतवाली में धोखाधड़ी सहित कई गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है. वहीं नीरज मौर्य का कहना है कि उन पर लगाए गए आरोप निराधार हैं. यह राजनीतिक षड्यंत्र है. पुलिस जांच में हकीकत साफ हो जाएगी.

आंवला लोकसभा सीट पर 19 अप्रैल को नामांकन के आखिरी दिन शाहजहांपुर के जलालाबाद के रहने वाले सत्यवीर सिंह ने खुद को बहुजन समाजपार्टी का उम्मीदवार बताकर नामांकन पत्र दाखिल किया था, जबकि पार्टी की तरफ से आंवला लोकसभा सीट से आबिद अली को अधिकृत प्रत्याशी बनाया गया है. जैसे ही पार्टी के पदाधिकारियों को सत्यवीर सिंह के पार्टी का उम्मीदवार बताकर नामांकन करने की जानकारी लगी तो खलबली मच गई. 20 अप्रैल को नामांकन पत्रों की जांच के दौरान आंवला लोकसभा सीट से बहुजन समाज पार्टी के दो उम्मीदवार होने से चुनाव अधिकारी भी असमंजस में पड़ गए. पूरे मामले में बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने चुनाव आयोग से शिकायत की. इसके बाद रिटर्निंग अधिकारी से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में आबिद अली को अधिकृत प्रत्याशी बताया गया. तब जाकर सत्यवीर सिंह का नामांकन पत्र खारिज किया गया.

बहुजन समाज पार्टी के आबिद अली ने आरोप लगाया कि खुद को पार्टी प्रत्याशी बताने वाले सत्यवीर सिंह ने फर्जी दस्तावेज तैयार कर अपना नामांकन पत्र दाखिल किया था. आबिद अली का आरोप है कि आंवला लोकसभा सीट से समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार नीरज मौर्य भी शाहजहांपुर के जलालाबाद के रहने वाले हैं और इस पूरे प्रकरण में सत्यवीर सिंह के साथ हैं. फर्जी कागजात तैयार करने में नीरज मौर्य मिले हुए हैं.

आबिद अली की लिखित शिकायत पर सत्यवीर सिंह और आंवला लोकसभा सीट से समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार नीरज मौर्य के खिलाफ बरेली कोतवाली में धोखाधड़ी सहित कई गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है.

वहीं समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार नीरज मौर्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने के बाद उन्होंने बताया कि आरोप निराधार हैं. राजनीतिक षड्यंत्र के तहत आरोप लगाकर मुकदमा दर्ज कराया गया है. क्षेत्राधिकार प्रथम पंकज श्रीवास्तव ने बताया कि आबिद अली की तहरीर पर सत्यवीर सिंह और नीरज मौर्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. मामले की विवेचना की जाएगी और उसके बाद वैधानिक कार्रवाई की जाएगी.

Share.

Leave A Reply