Date: 22/04/2024, Time:

इसे राष्ट्रनीति का असर कहें या विराट सपनों को पूरा करने का संकल्प, मोदी की बेदाग छवि भी मतदाताओं को कर रही है आकर्षित

0

आने वाले लोकसभा चुनाव में भाजपा का नारा अबकी बार 400 पार वर्तमान परिस्थितियों में निराधार नहीं लगता है। क्योंकि इंडिया गठबंधन से निरंतर टूटकर जा रहे नेता और कांग्रेस तथा यूपी में सबसे मजबूत दल सपा के नेता जिस प्रकार से पार्टी छोड़ रहे हैं उससे यह साफ दिखाई दे रहा है कि इसका फायदा सीधे भाजपा को मिलना है। इसलिए देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी जो कह रहे हैं विकसित भारत के लिए भाजपा जरूरी है उसका असर दिखाई दे सकता है इस बात से कोई भी इनकार नहीं कर सकता। दूसरे यह भी पक्का है कि भाजपाईयों का यह कथन कि राजनीति नहीं हम राष्ट्रनीति करते हैं विकसित भारत का संकल्प पूरा करने के लिए तीसरी बार सत्ता में भाजपा की वापसी जरूरी है क्योंकि अब तक देखे गए विराट सपने और संकल्प तभी पूरे होगें जब भाजपा आएगी। सबसे बड़ी इस बात से कोई इनकार नहीं कर सकता कि पिछले दस साल में वाकई में पीएम मोदी का कार्यकाल बेदाग रहा। इससे भी आगे देश हो या विदेश पीएम मोदी अपने भारत का नाम और मान दोनो बढ़ाने में सफल रहे। क्योंकि रणनीति व कूटनीति में पूरी तौर पर मोदी दुनियाभर में सफल रहे। यह बड़ी बात है कि इस साल होने वाले लोकसभा चुनाव में कुछ भी हो सकता है उसके बावजूद सितंबर तक के निमंत्रण एक खबर के अनुसार पीएम मोदी को मिल चुके हैं। जिसे इस बात का भी प्रतीक कह सकते हैं कि विदेशियों को भी लगता है कि जीतकर पीएम मोदी को ही आना है। जब दुनियाभर के देश इसके लिए आश्वस्त हो गए लगते हैं इसीलिए पीएम मोदी को निमंत्रण मिलना जारी है।
यह तो नहीं कह सकते कि वर्तमान सरकार हर क्षेत्र में सफल है लेकिन यह कहने में कोई फर्क नहीं है कि कई क्षेत्रों में भरपूर सफलता का अहसास मजबूती के साथ कराया जा रहा है। इसे राजनीति या रणनीति का प्रभाव कहे या कुछ और आम आदमी मोदी के प्रति आशावान नजर आता है। जहां तक समझा है राजनीति में विश्वास और संभावनाओं पर ही व्यवस्थाएं चलती हैं। जिसे बनाने और कायम करने में पीएम मोदी और उनकी टीम अभी तक लगभग सफल ही नजर आ रही है। पीएम मोदी का कहना सबका साथ सबका विश्वास का प्रभाव तो नजर आ ही रहा है और उसे मजबूती विपक्ष का बिखराव देने में लगा है।

Share.

Leave A Reply