Date: 30/05/2024, Time:

शादी के आठवें दिन सड़क हादसे में दुल्हन की मौत, दूल्हा गंभीर घायल

0

सीकर 25 अप्रैल। दांतारामगढ़ के करड़ गांव के पास मंगलवार देर रात दो बजे के करीब शादी के आठ दिन बाद ही नव-विवाहिता की सड़क हादसे में मौत हो गई। विवाहिता के हाथों की मेहंदी भी नहीं उतरी थी कि सड़क हादसे में जान चली गई, वहीं पति की हालत गंभीर बनी हुई है। नवविवाहित जोड़ा चक गांव में एक रिश्तेदारी में शादी में शरीक होकर वापस लौट रहा था। सामने अचानक नीलगाय आ गई, जिसे बचाने के चक्कर में गाड़ी पेड़ से टकरा गई। पत्नी की मौके पर ही मौत हो गई। मनीष का सवाई मानसिंह हॉस्पिटल जयपुर में इलाज चल रहा है।

दांतारामगढ़ थानाधिकारी भवानी सिंह ने बताया कि मूंड-गसोई गांव मारोठ के पास डीडवाना-कुचामन जिले के रहने वाले पति-पत्नी सोनू देवी मीणा (21) व मनीष कुमार मीणा (24) मूंड गसोई से खाचरियावास के चक गांव में शादी में शरीक होने आए थे। नवविवाहित जोड़ा दुल्हन सोनू देवी की बहन की लड़की की शादी में शामिल होकर रात्रि में वापस घर लौट रहे थे। करड़ गांव के पास रात में अचानक सड़क पर नीलगाय आने से गाड़ी पेड़ से टकरा गई, जहां पर नवविवाहिता सोनू देवी मीणा की मौके पर ही मौत हो गई। मनीष कुमार गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसे खाचरियावास सीएचसी लेकर पहुंचे। यहां से मनीष को जयपुर रैफर कर दिया।

मनीष बीकानेर में एक कॉलेज से बीएड कर रहा था। वहीं सोनू देवी बीए तक पढ़ी थीं। हादसे में मृतका सोनू देवी मीणा निवासी सांवलपुरा, अलोदा के पास व मनीष कुमार की शादी 16 अप्रैल को हुई थी। बुधवार सुबह मृतक सोनू देवी का पंचनामा करवा शव परिजनों को सौंप दिया। ससुराल मूंड-गसोई में व पीहर में गमगीन माहौल था।
सोनू देवी मीणा व उसकी दो बहनों की एक साथ 16 अप्रैल को गांव शादी हुई थी। सोनू की दो बहनों की शादी चक गांव में हुई थी। सोनू व उसका पति मनीष कुमार चक गांव में बहनों की ननद की शादी में शरीक होने गए थे। लेकिन हादसे ने खुशियों को पलभर में गम में बदल दिया।

Share.

Leave A Reply