Date: 30/05/2024, Time:

अपनी जेब से नहीं, जनता के टैक्स से भाजपा ने फ्री राशन दिया: मायावती

0

आगरा 04 मई। बसपा सुप्रीमो मायावती आज दोपहर आगरा पहुंची. आगरा के कोठी मीना बाजार मैदान पर बसपा सुप्रीमो मायावती की एक झलक देखकर बसपाइयों का जोश सातवें आसमान पर था. मायावती ने भीड़ का हाथ हिलाकर और जोड़ कर अभिवादन किया. इसके बाद मायावती ने जनसभा का मंच संभालते ही अपने चिरपरिचित अंदाज में संबोधन शुरू किया. उन्होंने मंच से भाजपा, सपा और कांग्रेस पर जुबानी हमला बोला.

बसपा प्रत्याशी पूजा अमरोही के समर्थन में जनसभा को संबोधित करते हुए मायावती ने कहा कि कांग्रेस की सरकार ने जनता को लूटा. इसलिए, ये सत्ता से दूर हुए. अब भाजपा की केंद्र और प्रदेश की सरकार भी यही कर रही है. गरीबों, आदिवासी, अल्पसंख्यक समुदाय का शोषण हो रहा है. भाजपा जो गरोबों को फ्री राशन देने का ढिंढोरा पीट रही है. भाजपा वाले कह रहे हैं कि गरीबों ने भाजपा का नमक खाया है. इसलिए, भाजपा को वोट दें. मगर, आप ध्यान रखें कि पीएम मोदी अपनी जेब से किसी को फ्री राशन नहीं दे रहे हैं. ये जनता के टैक्स से फ्री राशन दिया गया है. कोई भाजपा का फ्री नमक या राशन नहीं है. इसलिए, इनके बहकावे में नहीं आए.

मायावती ने कहा कि हमारी पार्टी कांग्रेस भाजपा या अन्य किसी विरोधी पार्टी या गठबंधन के साथ नहीं बल्कि अकेले पूरी दमदारी से चुनाव लड़ रही है. सभी समाज के लोग बसपा के लिए जी जान से लगे हैं. हमारी पार्टी ने साव समाज के लोगों को टिकट बंटवारे के मामले में सभी को समान रखा है. सभी जातियों को बराबर मौका दिया है. इस बार आगरा सुरक्षित लोकसभा सीट से जाटव समाज की महिला को मैदान में उतारा है. फतेहपुर सीकरी में ब्राह्मण समाज के व्यक्ति को चुनाव में उतारा है. अपार भीड़ और जोश देखकर भरोसा हो गया है कि, आप लोग प्रदेश में अपनी पार्टी का बेहतर रिजल्ट देंगे.

कांग्रेस पार्टी को केंद्र और कई राज्यों से सत्ता से दूर होना पड़ा है. अन्य पार्टियों का भी यही हाल है. नाटकबाजी और जुमलेबाजी काम में आने वाली नहीं है. जातिवादी, पूंजीवादी, सांप्रदायिक और दोषपूर्ण नीतियों लाठी और करनी में अंतर की वजह से लगता है इस बार भारतीय जनता पार्टी भी केंद्र में नहीं होगी. जो भी समाज के वायदे किए हैं हवा हवाई हैं. इनका ज्यादा समय अपने चहेते पूजीपतियों को बनाने में है.अब ऐसा अलगता है की कांग्रेस पार्टी की तरह बीजेपी भी ज्यादातर लोगों ने दूर कर दिया है.

मायावती ने कहा कि, एससीटी आरक्षण में संशोधन बिल लाने के लिए हमारी पार्टी ने दबाव बनाया तो कांग्रेस और भाजपा की मिलीभगत से सपा को आगे लाया गया और इस बिल को पास नहीं होने दिया. इस समय जो कांग्रेस एससी एसटी के आरक्षण की बात कर रही है और बीजेपी भी कह रही है. यह दोनों पार्टी एससी एसटी का विकास नहीं चाहती हैं. निजीकरण के कारण भी एससी एसटी को लाभ नहीं मिल पा रही है. अल्पसंख्यक की हालत भी काफी दयनीय हो गई है. हमारी पार्टी ने किसानों को साधन उपलब्ध कराए और जो सुविधाएं हमने दी वो अन्य किसी ने नहीं दी. इस सरकार में दलितों, आदिवासियों का विकास नहीं हुआ है.

Share.

Leave A Reply