Date: 30/05/2024, Time:

जौनपुर में बीजेपी नेता की हत्या, बाइक सवार शूटर्स बोले-गाड़ी रोकिए, शादी का कार्ड है और फिर की फायरिंग

0

जौनपुर 07 मार्च। आज सुबह के 10 बजे। भाजपा के नेता प्रमोद कुमार यादव गांव के अपने घर से बाहर निकले थे। अपनी क्रेटा गाड़ी में सवार होकर वह किसी काम से जा रहे थे। गांव के बाहर सड़क पर निकले ही थे कि तभी उधर से लाल रंग की मोटरसाइकल सवार शख्स ने आवाज देकर नेताजी को गाड़ी रोकने के लिए कहा। अनजान शख्स को देखकर प्रमोद यादव ने गाड़ी में से ही जानकारी लेनी चाही। इस पर युवकों ने कहा कि आपको शादी का कार्ड देना है। नेताजी ने गाड़ी रोककर शीशा डाउन किया और बाइक सवार युवक बिल्कुल पास में आ गए। इसके आगे नेताजी कुछ समझ पाते इससे पहले ही युवकों ने असलहे निकालकर ताबड़तोड़ गोली चलानी शुरू कर दी।

यह किसी फिल्मी सीन की स्क्रिप्ट नहीं, बल्कि उत्तर प्रदेश के जौनपुर की घटना है। यहां गुरुवार की सुबह कद्दावर नेता और वर्तमान में बीजेपी के जिला मंत्री प्रमोद कुमार यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई। जौनपुर के थाना सिकरारा क्षेत्र स्थित बोधापुर गांव निवासी नेता को शादी का कार्ड देने के बहाने गाड़ी रुकवाकर गोली मार दी गई। कांड के बाद पूरे इलाके में कोहराम मच गया। आनन-फानन में परिजन प्रमोद यादव को लेकर अस्पताल गए लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी।

मृतक के छोटे भाई श्रवण यादव ने पूरे प्रकरण की जानकारी देते हुए बताया कि प्रमोद को 4-5 गोली मारी गई थी। कई अन्य राउंड फायरिंग भी हुई। इस हत्याकांड में किसी पर शक के बारे में पूछे जाने पर श्रवण ने किसी का नाम नहीं लिया। उन्होंने कहा कि किसी पर भी शक नहीं है। अभी ऐसी कोई बात भी नहीं थी वरना खुद लाइसेंसी रिवॉल्वर और राइफल लेकर ही चलते। वह तो आजकल रात में भी अकेले ही सफर कर रहे थे।

बताते चले कि प्रमोद यादव ने 2012 के विधानसभा चुनाव में जौनपुर की मल्हनी सीट से धनंजय सिंह की पत्नी जागृति सिंह के खिलाफ बीजेपी से चुनाव लड़ा था. इस चुनाव में सपा प्रत्याशी जीते थे, धनजंय सिंह की पत्नी तीसरे स्थान पर रही थीं. 2017 में जागृति का धनजंय सिंह से तलाक हो गया था. इसके बाद धनजंय सिंह ने तीसरी शादी श्रीकला रेड्डी से कर ली थी.
प्रमोद यादव के पिता राजबली यादव जनसंघ से जुड़े थे. 1980 में उनकी भी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. वह जिस रास्ते से गुजर रहे थे वहां पहले से ही घात लगाए बदमाशों ने उन्हें गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया था.

पुलिस अधीक्षक अजय पाल शर्मा ने बताया कि घायल की इलाज के दौरान मौत हो गई है। इस मामले में टीम में लगा दी गई है। जल्दी घटना का वर्कआउट किया जाएगा। कुछ लोगों की पहचान भी की गई है। जल्दी ही पूरे मामले का खुलासा होगा। पुलिस घटनास्थल पर पहुंच कर बदमाशों की तलाश में जुट गयी है।

Share.

Leave A Reply