Date: 15/06/2024, Time:

अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार से पूछे 107 सवाल

0

लखनऊ 06 मई। लोकसभा चुनाव 2024 के तहत पहले और दूसरे चरण का मतदान हो चुका है। जबकि तीसरे चरण के तहत सात मई को मतदान होना है। इसको लेकर सभी राजनीतिक दलों ने प्रचार अभियान में पूरी ताकत झोंक दी है। इसी बीच समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 107 सवालों की सूची तैयार की है। इसे अखिलेश यादव ने अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से ट्वीट कर जनता के सामने पेश किया है। ये सभी सवाल भाजपा सरकार से संबंधित हैं।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने सोशल मीडिया X अकाउंट पर तीन पेजों में सवाल लिखकर शेयर किया है। अखिलेश यादव ने एक्स पर भाजपा से सौ से ज्यादा सवाल पूछे हैं। इन्हें जनता के सच्चे सवाल बताते हुए पूछा है कि बिना जांच-परीक्षण के कोरोना का जानलेवा टीका जनता को क्यों लगवाया। राजनीतिक विरोधियों को कारागार में मारने की साजिशों को अंजाम देने का आरोप भी लगाया है। साथ ही यह भी पूछा है कि हाथरस में दलित की बेटी के बलात्कार व मृत्यु के बाद अंतिम संस्कार का हक क्यों छीना।

अखिलेश ने पूछा है कि भाजपा ने अपने नेताओं से बार-बार संविधान बदलने की बात क्यों कहलवाई। पुरानी पेंशन योजना बंद करके कर्मचारियों का हक क्यों मारा। इन सवालों के जरिये सफाई कर्मियों के सीवर में मरने का मामला उठाया है तो महंगाई को लेकर भी पर भाजपा पर हमला बोला है।

अखिलेश ने कहा कि भाजपा को यह भी बताना चाहिए कि उसने किसानों को एमएसपी को लेकर असत्य क्यों बोला। लघु उद्योगों के लिए कारगर कदम क्यों नहीं उठाया। बैंकों का कर्ज हड़पने वालों को विदेश क्यों भागने दिया। सीसीटीवी कैमरे के सामने चंडीगढ़ मेयर चुनाव में धांधली क्यों होने दी। लेटरल इंट्री के नाम पर विभिन्न विभागों में उच्च पदों पर अपनी विचारधारा के लोग क्यों भर्ती किए।

उन्होंने कहा, ‘भाजपा ने सरकारी नौकरी न निकाल करके आरक्षण से मिलने वाली नौकरियां देने से क्यों रोका? भाजपा ने पेपर लीक करवाकर किसी भी भर्ती को क्यों पूरा नहीं होने दिया? भाजपा ने सेना की पक्की नौकरी को चार साल की कच्ची नौकरी में क्यों बदलने दिया? ये तमाम वह सच्चे सवाल हैं जो हम जनता की तरफ से पूछ रहे हैं. इन सवालों का भाजपा के पास एक भी जवाब नहीं है. अगर उनके पास एक भी जवाब नहीं है तो आप उन्हें एक भी वोट नहीं देना.’

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा ने चुनावी बॉण्ड के नाम पर बड़े-बड़े उद्योगपतियों से पैसा वसूल लिया और इतना पैसा वसूला जिससे आज सभी को महंगाई का सामना करना पड़ रहा है. पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा के लोग यह सच्चाई नहीं बता पाते हैं कि इन्हीं चुनावी बॉण्ड की वजह से महंगाई है.

उन्होंने कोविशील्ड टीके के दुष्प्रभाव को लेकर हुए कथित खुलासे की तरफ इशारा करते हुए कहा, ‘भाजपा के लोग संविधान के पीछे तो पड़े ही हैं, हमारी आपकी जान के पीछे भी पड़े हैं. वैक्सीन का खेल खुल गया है और आप जब वैक्सीन लगवाने का सर्टिफिकेट देखते होंगे तो बताइए घबराहट होती है कि नहीं?’

यादव ने कहा, ‘हम तो बच गए लेकिन कुछ लोगों को जबरदस्ती वैक्सीन (कोविड रोधी टीका) लगा दिया गया. अब तो वह रिपोर्ट आ गई है कि इससे दिल और उससे संबंधित बीमारियां हो सकती हैं. तो बताओ भाजपा ने जान का खतरा पैदा किया कि नहीं. इतना ही नहीं भाजपा ने वैक्सीन लगाने वाली कंपनियों से भी पैसा वसूल लिया.

यादव ने भाजपा पर किसानों को दुख देने का आरोप लगाते हुए कहा कि जिस तरह से महंगाई बढ़ी है उससे तो यह लगता है कि भाजपा की सरकार में किसान बर्बाद हो जाएंगे और मजबूर होकर अपनी खेती बाड़ी छोड़ मजदूर बन जाएंगे.

उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद ‘इंडिया’ गठबंधन की सरकार बनने पर अग्निवीर योजना को खत्म किया जाएगा, किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी मिलेगी, गरीबों को अधिक पौष्टिक नि:शुल्क राशन मिलेगा और मोबाइल डाटा भी दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि इसके साथ ही माता-बहनों और गरीबों को एक लाख रुपये देकर उन्हें लखपति बनाने का काम भी होगा. आगरा में लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के तहत आगामी सात मई को मतदान होगा.

Share.

Leave A Reply