Date: 24/07/2024, Time:

जय फिलीस्तीन का नारा संसद में लगाने के लिए असददुदीन के विरूद्ध हो कार्रवाई

0

18वीं लोकसभा के लिए चुनकर आए सदस्यों ने शपथ ग्रहण की। इस दौरान हैदराबाद से सांसद अससुदीन औवेशी द्वारा अपने पद की शपथ लेने के साथ ही जब जय भीम जय तेलंगाना के नारे लगाए तो किसी को कोई हर्ज नजर नहीं आया मगर जय फिलिस्तीन का नारा देश के सबसे उच्च सदन मे कैसे और क्यों लगाया गया यह गंभीर विषय है। क्योंकि हम भारतीय किसी भी देश और नागरिकों की भावना और धर्म का विरोध नहीं करते हैं लेकिन इस प्रकार के नारे सबसे उच्च सदन में लगाया जाना किसी भी रूप में सही नहीं कहा जा सकता। इस बारे में किरेन रिजिजू के हवाले से छपी एक खबर कि हम किसी का विरोध नहीं करते लेकिन भारत के सदन के अंदर किसी देश का नारा लगाया जाना उचित नहीं है। औवेशी की क्या सोच है क्या नीति है इसका तो मैं कभी विरोधी नहीं रहा क्योंकि देश में हर नागरिक को संविधान का पालन करते हुए अपनी बात कहने और काम करने का अधिकार प्राप्त है लेकिन जय फिलिस्तीन के नारे लगाकर औवेशी ने कोई अच्छा संदेश नहीं दिया है और देशहित में ऐसे मामलों की पुनरावृति ना हो सरकार को कार्रवाई सुनिश्चित करनी चाहिए। लोकसभा में विपक्ष के नेता राहुल गांधी ने बिना किसी बात के सोचे उनके जवाब में जय हिंद जय संविधान का जो नारा दिया वो प्रशंसनीय है। बरेली से भाजपा सांसद छत्रपाल गंगवार द्वारा हिंदू राष्ट्र का नारा लगाना गलत नहीं है। सपा मुखिया अखिलेश यादव और अयोध्या से जीते सांसद ने जब जय श्रीराम के नारे लगाए तो विपक्ष के कई सांसदों ने जय श्रीराम के नारे का उदघोष किया तो उड़ीसा के सांसदों ने जय जगन्नाथ के नारे लगाए तो भाजपा सांसद हेमा मालिनी ने राधे राधे का उदघोष करते हुए शपथ ली। कुल मिलाकर इससे संबंध छपी खबरों को पढ़कर आभास हुआ वो यह है कि किसी भी सांसद ने राष्ट्र की एकता और सम्मान को नजरअंदाज नहीं किया। जब फैजाबाद से सांसद अवधेश प्रसाद शपथ लेने पहुंचे तो सपा के सांसदों सहित विपक्षी सांसदों ने जय श्रीराम के नारे लगाए। मुझे लगता है कि अगर औवेशी फिलीस्तीन के संदर्भ में लगाए गए नारे का सही स्पष्टीकरण नहीं देते हैं तो जो कार्रवाई संभव हो सकती है वो की जाए और संविधान में व्यवस्था हो तो सख्त से सख्त निर्णय लिए जाने चाहिए। क्योंकि संविधान के विपरीत जाने की अनुमति किसी को भी नहीं दी जा सकती।
(प्रस्तुतिः संपादक रवि कुमार बिश्नोई दैनिक केसर खुशबू टाइम्स मेरठ)

Share.

Leave A Reply