Date: 18/07/2024, Time:

फेमस रेस्टोरेंट में शख्स ने किया वेज फूड का ऑर्डर, दाल में एक मरा हुआ चूहा और तिलचट्टे दिखे, बिगड़ी तबीयत

0

मुंबई 17 जनवरी। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज के रहने वाले एक शख्स को मुंबई के बारबेक्यू नेशन से वेज फूड खाना ऑर्डर करना महंगा पड़ गया. पेशे से वकील इस शख्स ने ऑनलाइन शाकाहारी खाने का ऑर्डर किया था, जिसमें एक मरा हुआ चूहा पड़ा था. खाते ही शख्स की तबीयत बिगड़ गई और उसे अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा. राजीव शुक्ला नाम के इस शख्स ने सोशल मीडिया पर मरे हुए चूहे वाले खाने की तस्वीर शेयर की है. शख्स ने बताया है कि घटना 8 जनवरी 2024 की है.

दरअसल, राजीव शुक्ला किसी काम से मुंबई गए हुए थे. उसी दौरान उन्होंने ऑनलाइन ऑर्डर के जरिए वर्ली स्थित बारबेक्यू नेशन से अपने लिए क्लासिक वेज मिल बॉक्स का ऑर्डर किया. उन्हें अपने ऑर्डर में चूहे रुपी अनचाहे ‘एक्स्ट्रा प्रोटीन’ को शामिल करने की बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी. पैकेट खोलकर जैसे ही उन्होंने खाना शुरू किया तभी दाल मखनी में एक मरा हुआ चूहा और तिलचट्टे दिखे. इसके बाद उनकी तबीयत खराब हो गई. ऐसे में उन्हें तुरंत बीवाईएल नायर अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया.

अपनी निराशा व्यक्त करते हुए राजीव शुक्ला ने लिखा, “मैं मुंबई घूमना चाहता था और इसलिए मैं यहां आया था. लेकिन अब मैं वापस प्रयागराज लौट रहा हूं. संभवतः यह मेरी मुंबई की आखिरी यात्रा हो सकती है. मैं एक ब्राह्मण हूं और शुद्ध शाकाहारी हूं, लेकिन जब मेरा बारबेक्यू नेशन से खाने का ऑर्डर आया, तो इसने मुझे जीवन का सबसे बड़ा झटका दिया. खाने में मरा हुआ चूहा और कॉकरोच थे. फ्री प्रेस जर्नल की रिपोर्ट के अनुसार, मुझे फूड प्वाइजनिंग हो गई और मुझे नायर अस्पताल में भर्ती कराया गया.

घटना के संदर्भ में राजीव शुक्ला ने तुरंत ईमेल के माध्यम से बारबेक्यू नेशन को सूचित किया और पूरे मामले से अवगत कराया. उन्होंने लिखा, ”मुझे चूहे और कॉकरोच वाला खाना मिला और दुर्भाग्य से मैंने उसका बड़ा हिस्सा खा लिया. मैं शुद्ध शाकाहारी व्यक्ति हूं. इसे खाने के बाद मुझे काफी उल्टी हुई. मेरे दिमाग में सिर्फ मरे हुए चूहे को खाने की बात ही चल रही है. फूड बिजनेस का मतलब लोगों को बेहतर क्वालिटी उपलब्ध कराना है, ताकि वे जीवित रह सकें. इसका यह मतलब नहीं है कि हमें उटपटांग खाना खिलाकर मार दो.

हालांकि, राजीव के इस पोस्ट पर बारबेक्यू नेशन ने अपनी प्रतिक्रिया दी है, लेकिन हॉस्पिटल में रेस्टोरेंट फ्रेंचाइजी की तरफ से उन्हें देखने तक कोई नहीं आया. बारबेक्यू नेशन के सीआरएस टीम की ओर से मनोज ने निराशाजनक प्रतिक्रिया देते हुए लिखा है, ‘प्रिय अतिथि, आपको हुई किसी भी असुविधा के लिए हम ईमानदारी से माफी मांगते हैं और इसे हमारे ध्यान में लाने के लिए समय निकालने के लिए आपकी सराहना करते हैं. मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं कि आपकी चिंताएं हमारे लिए अत्यंत महत्वपूर्ण हैं.’

बारबेक्यू नेशन के सोशल मीडिया टीम द्वारा मिली ऐसी प्रतिक्रिया से राजीव शुक्ला नाखुश हैं. उन्होंने अंसतोष, हताशा और जलन से परेशान होकर 6 दिन बाद मुंबई के नागपाड़ा पुलिस स्टेशन में बारबेक्यू नेशन के मालिक, प्रबंधक और शेफ के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई.

Share.

Leave A Reply