Date: 22/04/2024, Time:

सिस्टोन सिरप, लिव 52 टैबलेट सहित 31 प्रकार की दवाएं पूरे यूपी में प्रतिबंधित

0

लखीमपुर खीरी, 16 मार्च। जांच में फेल हुईं सिस्टोन सिरप, लिव 52 टैबलेट सहित 31 प्रकार की आयुर्वेदिक दवाओं के पूरे बैच पर प्रदेशभर में प्रतिबंध लगा दिया गया है। अगले बैच की दवाओं की जांच के बाद ही बिक्री की जाएगी। 21 प्रकार की दवाओं में मिलावट तो 10 प्रकार की दवाएं नकली पाई गईं। ऐसे में संबंधित विक्रेताओं और निर्माताओं को नोटिस जारी किया गया। प्रतिबंध के बाद अगर कोई इन दवाओं की बिक्री करते हुए पाया गया तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सिस्टोन सिरप, लिव 52 टैबलेट का सैंपल लखीमपुर से तो अन्य दवाओं के सैंपल प्रदेशभर से लिए गए थे।

क्षेत्रीय आयुर्वेदिक एवं यूनानी अधिकारी डॉ. हरबंश कुमार ने कहा कि शासन के निर्देश पर तीन से 26 अगस्त 2023 के बीच जिले में विशेष अभियान चलाकर आयुर्वेदिक दवाओं के सैंपल भरे गए थे। सैंपलों को जांच के लिए राजकीय विश्लेषक, आयुर्वेदिक एवं यूनानी औषधि परीक्षण प्रयोगशाला लखनऊ भेजा था, जिसकी जांच रिपोर्ट अब प्राप्त हुई है। इसमें लखीमपुर शहर से लिए गए सिस्टोन सिरप और लिव 52 टैबलेट के सैंपल जांच में आधोमानक पाए गए। सिस्टोन सिरप में 40 फीसदी से अधिक शुगर की मात्रा मिली, जो लेबल पर अंकित नहीं थी। लिव-52 में मंडूर भस्म का मिश्रण एवं दारुहरिद्रा का प्रयोग लेबल पर सही ढंग से नहीं दर्शाया गया।

उन्होंने कहा कि लखीमपुर के साथ ही कानपुर, लखनऊ, वाराणसी, सीतापुर, गजियाबाद, सहारनपुर आदि जिले में भी अभियान चलाकर वहां के अफसरों ने दवाओं के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे थे, जो फेल पाए गए हैं। उन्होंने कहा कि जांच में फेल होने वाली दवाओं में चूर्ण, कैप्सूल, टेबलेट, बटी, सिरप आदि हैं।

इन दवाओं में मिलावट मिली
गाजियाबाद से लिए गए विश्वास गुड हेल्थ कैप्सूल आयुर्वेदा, कानपुर से पेन निल चूर्ण, एज-फिट चूर्ण, अमृता आयुर्वेदिक चूर्ण, स्लीमेक्स चूर्ण, दर्द मुक्ति चूर्ण, आर्थोनिक चूर्ण, योगी केयर, लखनऊ से माइकान गोल्ड कैप्सूल, डायबियंट शुगर केयर टैबलेट, हाईपावर मूसली कैप्सूल, डायबिक केयर, गौतमबुद्ध नगर से झंडु लालिमा ब्लड एंड स्किन प्यूरिफायर, गाजियाबाद से हेल्थ गुड सीरप, हेपलिव डीएस सीरप, लखीमपुर से सिस्टोन सीरप, सीतापुर से बायना प्लस आयल, गौतमबुद्ध नगर से वातारिन ऑयल, गौतमबुद्ध नगर से लिव-52, वाराणसी से न्यू रिविल, लखनऊ बोस्टा एम आर टैबलेट, लखीमपुर से लिव-52 के सैंपल लिए गए थे, जिसमें मिलावट पाई गई।

यह दवाएं नकली करार
सीतापुर से लिए गए ज्वाला दाद, गाजियाबाद से रूमो प्रवासी, सुंदरी कल्प सीरप, सहारनपुर से त्रयोदांग गुगगुल, मुजफ्तरपुर से वेदांतक बटी, सीतापुर से आंवला चूर्ण, लखनऊ से सुपर सोनिक कैप्सूल, बोस्टा 400 टेबलेट, वाराणसी बायना प्लस कैप्सूल जांच में नकली करार दिए गए हैं।

Share.

Leave A Reply