Date: 18/07/2024, Time:

24 कैबिनेट मंत्रियों ने संभाला कार्यभार, 100 दिन का एजेंडा होगा पहला इम्तिहान

0

नई दिल्ली 12 जून। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) सरकार के तीस कैबिनेट मंत्रियों में से 24 ने मंगलवार को अपना कार्यभार संभाल लिया। स्वतंत्र प्रभार वाले पांच में चार राज्यमंत्रियों ने भी जिम्मेदारी संभाल ली। इस बार खास बात यह रही कि कैबिनेट मंत्रियों ने राज्यमंत्रियों के साथ मं त्रालय पहुंचकर उन्हें भी दायित्व संभलवाया। पूर्व मंत्री भी नए मंत्रियों को काम सौंपने के लिए मंत्रालय पहुंचे।

सभी की पहली अग्निपरीक्षा 100 दिन के एजेंडे को अमल में लाने की है पीएम मोदी ने पहले ही दिन सभी मंत्रियों को चुनावी घोषणापत्र में किए वादों को निर्धारित समय पर पूरा करने का लक्ष्य तय कर दिया था। उन्होंने खुद भी सोमवार को किसान सम्मान निधि और पीएम आवास योजना से जुड़े अहम फैसले किए थे। कामकाज शुरू करने वालों में सुरक्षा संबंधी मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीएस) में शामिल गृह मंत्री अमित शाह, विदेश मंत्री एस जयशंकर के अलावा रेल,आईटी व आईबी मंत्री अश्विनी वैष्णव, कृषि व ग्रामीण विकास मंत्री शिवराज सिंह चौहान, पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव, पेट्रोलियम मंत्री हरदीपसिंह पुरी जल शक्ति मंत्री सीआर पाटिल, संस्कृति मंत्री गजेंद्र शेखावत, महिला एवं बाल विकास मंत्री अन्नपूर्णा देवी और पंचायतीराज मंत्री राजीव रंजन प्रमुख हैं।

नई सरकार बनने के बाद महत्वपूर्ण विभागों में तुरंत उठाए जाने वाले कदमों के लिए 100 दिन के अजेंडे के शीघ्र क्रियान्वयन पर चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है। केंद्रीय मंत्रियों ने अधिकारियों को पहले 100 दिनों के अजेंडे पर पूरी गंभीरता के साथ काम करने को कहा है। बीजेपी के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मंगलवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री का पदभार संभाल लिया। नड्डा ने कार्यभार संभालने के बाद स्वास्थ्य राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल और प्रतापराव गणपतराव जाधव के साथ स्वास्थ्य मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों से बातचीत की। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि देश की प्रगति में स्वास्थ्य मंत्रालय की महत्वपूर्ण भूमिका है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में आने वाली सभी चुनौतियों के लिए तैयार रहना होगा। भारत के हेल्थकेयर सिस्टम को पूरी दुनिया में मान्यता मिल रही है।

आयुष्मान योजना का दायरा बढ़ाने की तैयारी
स्वास्थ्य मंत्रालय इस समय देश में कई बड़ी योजनाओं को लागू करने की दिशा में तेजी से काम कर रहा है। साथ ही आयुष्मान योजना का दायरा बढ़ाने की भी तैयारी है। 70 वर्ष और उससे अधिक आयु के लोगों को आयुष्मान भारत योजना के दायरे में लाने की एक बड़ी योजना है और बताया जा रहा है कि पहली बैठक में स्वास्थ्य मंत्री ने इस संबंध में भी चर्चा की है। आयुष्मान भारत योजना के तहत पांच लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज मिलता है। अब इस योजना का दायरा बढ़ाकर 70 वर्ष की आयु से ऊपर के हर बुजुर्ग को आयुष्मान योजना के दायरे में लाया जाएगा। 70 साल से ऊपर का हर बुजुर्ग, चाहे वो गरीब हो, मध्यम वर्ग का हो या फिर उच्च मध्यम वर्ग से ही क्यों न हो, उन्हें भी 5 लाख रुपये तक के मुफ्त इलाज की सुविधा मिलेगी।’ जनऔषधि केंद्रों पर 80 पर्सेंट डिस्काउंट के साथ सस्ती दवाएं मिलती रहेंगी, इन केंद्रों का विस्तार होगा। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव अपूर्व चंद्रा समेत मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने बैठक में हिस्सा लिया।

पीएम आवास योजना रहेगी बहुत अहम
हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्री का कार्यभार संभालते ही अधिकारियों के साथ पहली बैठक में पीएम आवास योजना को लेकर दिशा- निर्देश जारी किए। उन्होंने कहा कि आवासीय योजनाओं में आम लोगों की भागीदारी जरूर होनी चाहिए। आम लोगों को कैसे ज्यादा से ज्यादा फायदा मिले और पीएम आवास योजना का लाभ उन तक पहुंचाया जा सके, यह टॉप अजेंडे में होना चाहिए। सभी मेट्रो प्रोजेक्ट के समय पर पूरा होने की चुनौती पर भी बात हुई क्योंकि मेट्रो में सफर करने वाले लोगों की संख्या लगातार बढ़ रही है। अर्बन प्लानिंग में स्मार्ट सिटी मिशन मील का पत्थर साबित हुआ है। पीएम स्वनिधि योजना का लाभ ज्यादा लोगों को मिले, इस बारे में भी केंद्रीय मंत्री ने निर्देश दिए हैं। पीएम आवास योजना (अर्बन) में और एक करोड़ घरों का निर्माण भी मंत्रालय की प्रमुख प्राथमिकताओं में है, 1 करोड़ से ज्यादा घरों का निर्माण हो चुका है। मंत्रालय के प्रवक्ता राजीव जैन ने कहा कि केंद्रीय मंत्री ने राज्य स्तर पर आवास मंत्रालय योजनाओं की भी समीक्षा करने पर जोर दिया है और जल्द ही यह प्रक्रिया शुरू होगी।

Share.

Leave A Reply