Date: 18/07/2024, Time:

नीटः गड़बड़ी को लेकर दो इंजीनियर समेत तीन निलंबित

0

पटना 22 जून। NEET Paper Leak मामले में बिहार सरकार का एक्शन शुरू हो गया है। मामले में पथ निर्माण विभाग ने तीन कर्मियों पर कार्रवाई की है। मामले में आरोपी सिकंदर प्रसाद यादवेंदु के लिए कमरा बुक करने वाले दो अभियंता और एक क्लर्क को सस्पेंड किया है। सुपरिटेंडेंट इंजीनियर उमेश राय, असिस्टेंट इंजीनियर धर्मेन्द्र कुमार धर्मकांत और कार्यालय कर्मी प्रदीप को सस्पेंड किया गया है।

बता दें कि सिकंदर प्रसाद यादवेंदु पटना के दानापुर नगर परिषद में जूनियर इंजीनियर है। उसने अपने भतीजे और नीट अभ्यर्थी अनुराग यादव के नाम से गेस्ट हाउस का रूम बुक करवाया था। पुलिस अनुराग और सिकंदर दोनों को गिरफ्तार कर चुकी है। सिकंदर ने ही गेस्ट हाउस में परीक्षार्थियों को रखवाने और गैंग की मदद से पेपर रटवाने का प्लान बनाया था। अनुराग ने भी पुलिस को दिए बयान में कहा कि सिकंदर उसके फूफा हैं। वो ही गेस्ट हाउस लेकर पहुंचे थे और वहां रात भर पेपर रटवाया था।

तीनों कर्मियों पर आरोप है कि इनलोगों ने तथ्य को छिपाया। साथ हीं गैर जिम्मेदाराना रवैया अपनाकर विभाग को अंधेरे में रखा। यह कार्रवाई उपमुख्यमंत्री सह पथ निर्माण मंत्री विजय कुमार सिन्हा के आदेश पर की गई है। बता दें कि उपमुख्यमंत्री विजय सिन्हा ने आरोप लगाया कि निरीक्षण भवन की बुकिंग पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के पीएस और बिहार प्रशासनिक सेवा के अधिकारी प्रीतम कुमार के पत्र पर की गई थी। अब इस मामले में एसआईटी प्रीतम कुमार से पूछताछ कर सकती है। इसी निरीक्षण भवन में जेल में बंद निलंबित जेई सिकंदर यादवेंदु ने अपनी सरहज रानी कुमारी और रानी के बेटे अनुराग को ठहराया था।

गुरुवार को बिहार के डिप्टी सीएम विजय सिन्हा ने कहा था कि तेजस्वी यादव के पीएम प्रीतम कुमार ने गेस्ट हाउस के कर्मचारी प्रदीप के जरिए मास्टरमाइंड सिकंदर के लिए कमरा बुक करवाया था। उन्होंने आगे कहा, ‘गेस्ट हाउस में जिन लोगों को पकड़ा गया है, वे प्रीतम से जुड़े हुए हैं और प्रीतम पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के पीएस हैं। प्रीतम ने दबाव बनाकर गेस्ट हाउस की बुकिंग कराई। पहले प्रीतम के फोन को गंभीरता से नहीं लिया गया था. गेस्ट हाउस में रुकने के लिए आवंटन पत्र भी नहीं दिया गया था, लेकिन लोग वहां पर रुके थे। इस संबंध में विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

इधर NEET पेपर लीक मामले में RJD नेता तेजस्वी यादव के निजी सचिव प्रीतम कुमार यादव की भूमिका पर सवाल उठने पर प्रदेश की सियासत भी गरमा गई है। मामले में तेजस्वी यादव के PS प्रीतम यादव से बिहार पुलिस की आर्थिक अपराध इकाई (EOU) पूछताछ कर सकती है। इस दौरान EOU यह प्रीतम कुमार और पेपर लीक के मास्टर माइंड सिकंदर यादवेंदु के बीच का कनेक्शन जानने की कोशिश करेगा।

शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि हम बिहार सरकार के लगातार सपंर्क में है और कुछ अहम जानकारियां भी हमारे पास आई है।. पटना पुलिस जांच कर केस की तह तक जा रही है और डिटेल्‍ड रिपोर्ट तैयार कर रही है। जांच में उकने पास भी कुछ अहम जानकारियां सामने आई हैं। इस डिटेल्‍ड रिपोर्ट को वो जल्‍द ही भारत सरकार का भेजेंगे। उन्‍होंने आगे कहा कि पटना पुलिस का काम सराहनीय है, जो इस केस का उन्‍होंने खुलासा किया. हम उनकी जांच से संतुष्‍ट हैं।

Share.

Leave A Reply