डब्ल्यूएफआई के विरोध में पहलवानों को गीता- बबीता फोगाट ने दिया समर्थन

0
140

नई दिल्ली. राष्ट्रमंडल खेलों की पदक विजेता गीता फोगाट और उनकी बहन बबीता अपनी चचेरी बहन विनेश और उनके बहनोई बजरंग पुनिया के समर्थन में सामने आई हैं। ये दोनों अन्य शीर्ष भारतीय पहलवानों के साथ वर्तमान में महिला पहलवानों को परेशान करने के आरोप में भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।ओलंपियन पहलवान बजरंग पुनिया, साक्षी मलिक, विनेश फोगाट और अन्य शीर्ष भारतीय पहलवान विनेश द्वारा महिला पहलवानों के यौन उत्पीड़न के लगाए गए गंभीर आरोपों के बाद यहां जंतर-मंतर पर भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के अध्यक्ष बृज भूषण शरण सिंह के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

एशियाई खेलों और राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक विजेता विनेश गत दिवस पत्रकारों से बात करते हुए रो पड़ी थी, क्योंकि विनेश ने कहा कि उसे बृजभूषण शरण सिंह द्वारा मानसिक उत्पीड़न का शिकार होना पड़ा। उन्होंने कहा कि उसने आत्महत्या के बारे में भी सोचा था। ओलंपिक पदक विजेता साक्षी मलिक और बजरंग पुनिया सहित 30 से अधिक पहलवानों ने यहां जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन किया।

आज सुबह, गीता फोगाट और बबीता फोगाट ने डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष को हटाने की मांग करने वाले प्रदर्शनकारी पहलवानों को अपना समर्थन देते हुए ट्वीट किया।

गीता ने आज एक ट्वीट में लिखा कि हमारे देश के पहलवानों ने डब्ल्यूएफआई में खिलाड़ियों के साथ जो होता है उसका सच सामने लाने के लिए बहुत ही साहसी काम किया है। इस सच्चाई की लड़ाई में खिलाड़ियों का साथ देना और उन्हें न्याय दिलाना हम सभी देशवासियों का कर्तव्य है।

उनकी छोटी बहन बबिता ने भी ट्वीट किया, “कुश्ती के इस मामले में मैं अपने सभी साथी खिलाड़ियों के साथ खड़ी हूं। खिलाड़ियों की भावनाओं के अनुसार तय किया जाना चाहिए।”

इससे पहले डब्ल्यूएफआई का विरोध कर रहे ओलंपियन बजरंग पुनिया, साक्षी मलिक, विनेश फोगाट और अन्य शीर्ष भारतीय पहलवानों ने गत रात पुरानी दिल्ली के चांदनी चौक स्थित एक मंदिर में बिताई।

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments