लापरवाही! सदर अस्पताल में गर्भवती महिला को चढ़ा दिया HIV पॉजिटिव ब्लड

86
loading...

बिहारशरीफ. बिहारशरीफ के सदर अस्पताल के कर्मी ने गर्भवती महिला को HIV पॉजिटिव खून चढ़ा दिया. इससे स्वास्थ्य महकमे में खलबली मच गई. वहीं, हॉस्पिटल के अधीक्षक डॉ. सुजीत कुमार अकेला ने ब्लड बैंक टेक्निशियन से स्पष्टीकरण मांगा है. इसके साथ ही लापरवाह कर्मी के खिलाफ हाई कमेटी जांच की मांग की है. हैरत की बात यह है कि ब्लड बैंक में HIV पॉजिटिव ब्लड कैसे स्टोर किया गया. जबकि, किसी से भी खून लेकर स्टोर करने के पहले HIV पॉजिटिव की जांच करना जरूरी है. फिलहाल स्टोर करते समय जांच में HIV निगेटिव कैसे आया इसकी जांच चल रही है.

दरअसल, बीते 3 नवंबर को HIV पॉजिटिव महिला प्रसव के लिए सदर अस्पताल आई हुई थी. वहीं, प्रसव के दौरान उसे एक यूनिट ब्लड की जरूरत पड़ी थी. ऐसे में उसके पति ने खून दे दिया, जिसने HIV पॉजिटिव होने की बात नहीं बताई. ऐसे में उस खून की जांच करके ब्लड बैंक में रख दिया गया और, उसके बदले दूसरा ब्लड गर्भवती महिला को चढ़ाया गया. वहीं, अगले 1 हफ्ते बाद दूसरी महिला को प्रसव के दौरान यह खून चढ़ा दिया गया.

जानिए कैसे हुआ HIV पॉजिटिव ब्लड का खुलासा?
बता दें कि बीते 2 दिन पहले HIV संक्रमित महिला एड्स की दवा लेने सदर अस्पताल पहुंची थी. इसी दौरान दवा लेते समय काउंसलर ने उसके कागजात की छानबीन के दौरान पाया कि उसे 3 नवंबर को प्रसव हुआ था. उस दौरान उसके पति ने अपना ब्लड देकर दूसरा खून पत्नी को चढ़वाया था. ऐसे में काउंसलर के होश उड़ गए. इसके बाद उसके पति द्वारा दिए गए ब्लड की जांच-पड़ताल की तो पता चला कि किसी अन्य दूसरी गर्भवती महिला को ये ब्लड़ चड़ाया जा चुका है.

लैब टेक्निशियन को नोटिस थमाकर मांगा गया स्पष्टीकरण
वहीं, इस मामले में ब्लड बैंक के प्रभारी डॉ. रामकुमार ने बताया कि लैब टेक्निशियन संतोष कुमार को नोटिस थमाकर स्पष्टीकरण की मांग की गई है. हालांकि प्रथमदृष्ट्या जांच में लापरवाही बरती गई है. इसके साथ ही, महिला के पति ने भी पॉजिटिव होने की बात लैब टेक्निशियन से बात छुपाई है. इस दौरान स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ने बताया कि इस तरह से मरीजों की जान से खिलवाड़ करने वाले कर्मियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × four =