रेलवे अब यात्रियों को समुद्र में कराएगा यात्रा, सबसे पहले IRCTC मुंबई से गोवा समुद्र से भेजेगा यात्री

21
loading...

मुरादाबाद. एशिया के दूसरे सबसे बड़े नेटवर्क वाला भारतीय रेलवे अब समुद्र मार्ग में भी उतरने की तैयारी कर रहा है। पायलट प्रोजेक्ट के तहत सबसे पहले मुंबई से गोवा समुद्र मार्ग से लोगों को आइआरसीटीसी ले जाएगा।पायलट प्रोजेक्ट सफल होने पर समुद्र मार्ग से श्रीलंका तक का भ्रमण करने की व्यवस्था की जाएगी। इंडियन रेलवे कैटरिंग व टूरिज्म कारपोरेशन (आइआरसीटीसी) वर्तमान में ट्रेन मार्ग से देश भर के पर्यटन स्थल व धार्मिक स्थल तक भ्रमण कराने ले जाते हैं। इसके साथ ही हवाई जहाज से अन्य देश के पर्यटन स्थल पर भ्रमण कराते हैं।

कोरोना संक्रमण के बाद पर्यटन उद्योग काफी प्रभावित हुआ है। पर्यटन पर जाने वालों की संख्या कम हुई है। कोरोना संक्रमण कम होने के बाद आइआरसीटीसी ट्रेन मार्ग से कई स्थानों के लिए पर्यटन व धार्मिक यात्रा के लिए ट्रेन चलाने जा रहा है। इसके साथ ही पहली बार समुद्र के बीच व समुद्र मार्ग से पर्यटन कराने के लिए योजना बनाई गई है। इसके लिए कार्डेलिया क्रूज (समुद्र जहाज) का प्रयोग किया जाएगा। इसमें कोविड से बचाव की व्यवस्था की जाएगी। बीमार पड़ने पर चिकित्सक व आक्सीजन जैसी सुविधा उपलब्ध होगी।

आइआरसीटीसी पहले चरण में 18 सितंबर से यह सेवा शुरू करने जा रहा है। फिलहाल मुंंबई से गोवा के बीच यह सेवा शुरू की जाएगी। जिसमें समुद्र के बीच दो रात गुजराने की व्यवस्था होगी। प्रोजेक्ट के सफल होने के बाद लक्ष्य द्वीप, मालदीव, जाफना, कोलंबो, गाले, त्रिकोमाली, चेन्नई समुद्र मार्ग से आइआरसीटी पर्यटन कराएगा। इसके साथ ही समु्द्र मार्ग से श्रीलंका के पर्यटन स्थल ले जाने की योजना है।

पर्यटन के दौरान यात्रियों को खाना-पीना, स्विमिंग, बार ओपन सिनेमा, जिम जैसी सुविधा फ्री में उपलब्ध कराएगा।जनसंपर्क अधिकारी आनंद कुमार झा ने बताया कि 18 सितंबर से समुद्र जहाज द्वारा पर्यटन कराने सेवा 18 सितंबर से शुरू होने जा रहा है। समुद्र जहाज से पर्यटन पर जाने वाले व्यक्ति आइआरसीसटी के वेब साइड पर जाकर आन लाइन टिकट बुक करा सकते हैं। यात्रा न्यूतन दो रात और अधिकतम पांच रात होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eighteen − four =