पृथ्वीराज चौधरी को ‘गुर्जर सम्राट’ लिखने का विरोध

52
loading...

बागपत. ग्राम पाबला बेगमाबाद गांव में रविवार को अखिल भारतीय वीर गुर्जर महासभा ने गुर्जर सम्राट पृथ्वीराज चौधरी लिखा लोहे का बोर्ड लगा दिया। इस पर राजपूत विकास समिति ने विरोध जताया। समिति के अध्यक्ष विजय फौजी ने नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने सोमवार को कलक्ट्रेट पहुंचकर मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन एडीएम को सौंपा। राजपूत विकास समिति के लोगों ने इसे सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने इस पर रोक लगाने को कहा। समिति का कहना है कि सम्राट पृथ्वीराज चैहान क्षत्रिय समाज के प्रेरणा स्त्रोत हैं, लेकिन गुर्जर समाज के कुछ असामाजिक तत्व इतिहास से छेड़छाड़ करके समाज में वैमनस्यता पैदा करने की कोशिश में हैं। पूर्व में इसको लेकर झगड़ा हो चुका है। ऐसा प्रतीत होता है कि आगामी विधानसभा चुनाव में लाभ लेने के लिए जातीय फूट डालने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने उक्त बोर्ड को हटवाने और आरोपितों पर कार्रवाई की मांग की है। वहीं अखिल भारतीय वीर गुर्जर महासभा बागपत के अध्यक्ष हरीश चैधरी का कहना है कि उनके साथियों ने उच्च पदाधिकारियों के दिशा-निर्देश पर उक्त बोर्ड लगाया है। नौ अगस्त को उनके द्वारा सम्राट पृथ्वीराज चैहान के गुर्जर होने के तथ्य प्रस्तुत किए जाएगे। यदि ये तथ्य गलत पाए जाते हैं तो सार्वजनिक रूप से गलती मानते हुए उक्त बोर्ड हटा लिया जाएगा। तथ्य सही सिद्ध हुए तो बोर्ड लगा रहेगा। एसडीएम अमित कुमार सिंह का कहना है कि इस संबंध में उनको राजपूत विकास समिति ने ज्ञापन सौंपा है। मामले में दोनों संगठनों के पदाधिकारियों से वार्ता की जाएगी। जिले में शांति व्यवस्था कायम रखी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × one =