दिल्ली में घर खरीदना हो सकता है महंगा, 10 साल बाद सर्किल रेट में होने जा रहा बदलाव

31
loading...

नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली में आने वाले दिनों में संपत्ति खरीदना सस्ता या महंगा हो सकता है। दिल्ली सरकार के राजस्व विभाग ने पुनर्मूल्यांकन कर नया सर्किल रेट तय करने की कवायद शुरू कर दी है। राजस्व विभाग ने सभी 11 जिले को अपने पुनर्मूल्यांकन कर नई दरें प्रस्तावित करने को कहा है। राज्य स्तर पर भी कमेटी का गठन किया गया है जो एमसीडी, डीडीए जैसे विभागों से प्रस्तावित दरों के बारे में बात कर रही है। पूर्वी जिला प्रशासन ने 31 जुलाई तक लोगों से सुझाव मांगा है। विशेषज्ञों की मानें तो जिस तरह से बीते वर्षों में खरीद-फरोख्त में कमी आई है, उससे कुछ श्रेणी में दरें कम हो सकती हैं।

2011 में बढ़ाए गए थे सर्किल रेट: दिल्ली में करीब 10 साल बाद संपत्ति के सर्किल रेट का पुनर्मूल्यांकन करके नई दरें घोषित करने की कवायद शुरू हुई है। इससे पहले नवंबर 2011 में तत्कालीन मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के नेतृत्व में दिल्ली का सर्किल रेट बढ़ाया गया था। उस समय कुछ श्रेणी के सर्किल रेट में 250 फीसदी तक का इजाफा हुआ था। इस बार कृषि भूमि को छोड़कर आवासीय, व्यावसायिक संपत्तियों को लेकर पुनर्मूल्यांकन की तैयारी है।

आठ श्रेणी में बांटी गई है संपत्ति : राजधानी में क्षेत्रवार संपत्तियों को कुल आठ श्रेणी ए से एच तक में बांटा गया है। ए श्रेणी की संपत्ति, जिसमें वसंतकुंज जैसे इलाके आते हैं, वहां सबसे अधिक 7.74 लाख रुपये प्रति वर्गमीटर की दर है। वहीं सबसे सस्ती एच श्रेणी की संपति जिसमें नंदनगरी जैसे इलाके आते हैं वहां पर 23,380 रुपये प्रति वर्गमीटर सर्कल रेट है।

वर्तमान में सर्किल रेटों में 20 फीसदी की मिल रही छूट : दिल्ली सरकार ने बीते साल कोविड के चलते दिल्ली में संपत्ति पंजीकरण शुल्क से होने वाली कमाई में आई गिरावट के बाद उसे बढ़ाने के लिए सर्किल रेट की दरों में 20 फीसदी की छूट दी थी। यह 30 सितंबर तक लागू है। यह छूट सभी आवासीय, व्यावसायिक के सभी आठ संपत्ति श्रेणी में लागू है। सरकार को 2002-21 में संपत्ति पंजीकरण और स्टांप शुल्क से 5297 करोड़ रुपये राजस्व की उम्मीद थी, लेकिन कोविड के चलते यह घटकर 3297 करोड़ आ गई। इस वित्तीय वर्ष 2021-22 में सरकार को इसी श्रेणी में 4997 करोड़ रुपये राजस्व की उम्मीद है, लेकिन संपत्ति पंजीकरण की भागीदारी बेहद कम है।

संपत्ति की श्रेणी और उसकी दरें
संपत्ति श्रेणी सर्किल रेट (रुपये प्रति वर्ग मीटर)
A 7,74,000
B 1,96,416
C 1,59,840
D 1,27,872
E 70,080
F 45,312
G 46,200
H 23,380

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen − five =