एसटीएफ ने बाइक बोट घोटाले का मास्टरमाइंड बीएन तिवारी मेरठ से किया गिरफ्तार

24
loading...

लखनऊ 25 फरवरी। उत्तर प्रदेश पुलिस एसटीएफ को आज बड़ी सफलता मिली है। एसटीएफ ने प्रदेश में 3500 करोड़ रुपया के बाइक बोट घोटाले के मास्टर माइंड को मेरठ से गिरफ्तार कर लिया है। मेरठ से आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) और एसटीएफ लखनऊ की संयुक्त टीम ने बाइक बोट घोटाले के आरोपित बीएन तिवारी को गिरफ्तार कर लिया है। तिवारी लाइव टुडे न्यूज चैनल का मालिक भी है। बीएन तिवारी पर इस बड़े घोटाले में करोड़ों की हेराफेरी का आरोप है। तिवारी को मेरठ से गिरफ्तार करने के बाद लखनऊ लाया गया है।

उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने उत्तर प्रदेश में 3500 करोड़ रुपया के यूपी के बाइक बोट घोटाले में सबसे बड़ी गिरफ्तारी की है। एसटीएफ ने मेरठ से बीएन तिवारी को गिरफ्तार किया है। इस बड़े घोटाले में अब तक एक दर्जन से अधिक लोगों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस ने भारी व्यवधानों के बाद भी आखिरकार बीएन तिवारी को गिरफ्तार किया है। 3500 करोड़ के बाइक बोट घोटाले के सरगना बीएन तिवारी पर 50 हजार रुपया का इनाम भी घोषित किया गया था। इस बड़े घोटाले की जांच उत्तर प्रदेश पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा कर रही है। बीएन तिवारी एक हिंदी न्यूज का मालिक भी बताया जा रहा है।

इससे पहले नोएडा के चर्चित बाइक बोट घोटाले को लेकर ईडी ने बीते शनिवार को बीएन तिवारी और उनके बेटे कुश तिवारी के लखनऊ में कई ठिकानों पर छापेमारी की थी। ईडी की टीम ने गोमतीनगर और पारा क्षेत्र में छापेमारी की। बोट बाइक घोटाले को लेकर ईडी ने निजी चैनल के मालिक के घर पर छापेमारी की तो वहीं ईडी की दूसरी टीम चैनल के दफ्तर पर भी पहुंची थी। नोएडा बाइक बोट घोटाले में बीएन तिवारी के साथ बसपा नेता रहे संजय भाटी को मास्टरमाइंड भी माना जा रहा है।

गौरतलब है कि बाइक बोट घोटाला 3500 करोड़ रुपए का है। इसमें गॢवत इन्नोवेटिव प्रमोटर्स लिमिटेड के खिलाफ इस घोटाले को लेकर नोएडा में एफआईआर दर्ज की गई। थीम गॢवत प्रमोटर्स लिमिटेड ने बाइक बोर्ड नाम की एक स्कीम शुरू की थी। इस दौरान लोगों को पैसे डबल करने का आश्वासन दिया गया। घोटाले में हजारों की संख्या में लोगों के साथ ठगी की गई है और जिन लोगों से ठगी की गई है। उनमें ज्यादातर लोग मध्यमवर्गीय परिवार से ताल्लुक रखते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − four =