चेतावनी! कोरोना Vaccine लेनी है तो बना लें शराब से दूरी, नहीं तो होगा बड़ा नुकसान

21
loading...

लंदन 7 जनवरी। दुनिया भर के करीब 20 देशों में या तो किसी न किसी वैक्सीन के इस्तेमाल को मंजूरी मिल चुकी है या फिर इमरजेंसी वैक्सीनेशन शुरू भी हो चुका है. ऐसे में जानकारों का मानना है कि अगर आप कोरोना वायरस वैक्सीन लेने के बारे में सोच रहे हैं तो शराब से दूरी बनाना आपके लिए जरूरी होने वाला है. एक्सपर्ट्स ने चेतावनी दी है कि शराब पीने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कम हो सकती है. उन्होंने सलाह दी है कि एक दिन पहले या बाद में शराब पीने से वैक्सीन का असर कम हो सकता है. के मुताबिक इमर्जेंसी मेडिसिन स्पेशलिस्ट डॉ. रॉन्क इखारिया ने ब्लड सैंपल पर एक्सपेरिमेंट किया है. शराब पीने से पहले और बाद में ये सैंपल लिए गए थे. उन्होंने पाया कि तीन गिलास शराब का असर साफ देखा गया जिनके कारण lymphocytes की संख्या 50 प्रतिशत कम हो गई थी. व्हाइट ब्लड सेल्स में 20-40% तक lymphocytes होते हैं.

इसे भी पढ़िए :  बिना ड्राइवर के उड़ने वाली कार फ्लाइंग Cadillac! जनरल मोटर्स ने सीईएस 2021 में किया पेश

इस प्रयोग में सामने आया है कि शराब पीने से शरीर में रहने वाले ऐसे सूक्ष्मजीवियों पर असर पड़ता है जो हानिकारक बैक्टीरिया और वायरस से हमारे शरीर को बचाते हैं. इसकी वजह से हमारे खून में मौजूद व्हाइट ब्लड सेल्स को नुकसान पहुंचता है. व्हाइट ब्लड सेल्स में मौजूद lymphocyte ही वायरस के खिलाफ लड़ने के लिए ऐंटीबॉडी बनाते हैं.
इम्यूनॉलजिस्ट प्रफेसर शीना क्रूकशैन्क का कहना है कि इसकी वजह से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कम हो सकती है. उन्होंने लोगों से अपील की है कि कोविड-19 वैक्सिनेशन के आसपास शराब से दूरी बनाकर रखें. Lymphocytes वे सेल होते हैं जो यह तय करते हैं कि वायरस जैसे हमलावर के खिलाफ कैसे लड़ना है.

इसे भी पढ़िए :  परिणीति चोपड़ा की 'द गर्ल ऑन द ट्रेन' का टीजर हुआ रिलीज, खतरनाक अंदाज में नजर आईं एक्ट्रेस- देखें Video

रूसी वैज्ञानिक Alexander Gintsburg के मुताबिक हम Sputnik V vaccine लगाने से तीन दिन पहले और बाद तक शराब न पीने की सलाह दे रहे हैं. हालांकि कई प्रयोग में ये समय दो महीने भी बताया गया है. एलेक्जेंडर Gamaleya National Center of Epidemiology and Microbiology मॉस्को में अध्यक्ष हैं और उन्हीं की देखरेख में वैक्सीन तैयार की गयी है.

इसे भी पढ़िए :  नेहा कक्कड़ ने रोहनप्रीत सिंह संग मनाई पहली लोहड़ी, शेयर की तस्वीरे

गौरतलब है कि ब्रिटेन में Pfizer और Oxford-AstraZeneca की वैक्सीन दी जा रही है जबकि अमेरिका में Pfizer और Moderna की वैक्सीन दी जा रही है. भारत में एक्सपर्ट कमिटी की सिफारिश के बाद ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने सीरम इंस्टिट्यूट की कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को भारत में इमर्जेंसी इस्तेमाल के लिए मंजूरी दे दी है. इसके अलावा जायडस कैडिला की वैक्सीन जाइकोव-डी को तीसरे चरण के क्लिनिकल ट्रायल के लिए मंजूरी मिल गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × 1 =