नोएडा इंडोर स्टेडियम का हुआ लोकार्पण, सीएम योगी बोले- मेरठ में शीघ्र स्थापित होगी ‘स्पोर्ट यूनिवर्सिटी’

30
loading...

लखनऊ 23 जनवरी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नोएडा के सेक्टर 21-ए में इस नवनिर्मित इनडोर स्टेडियम का आज लोकार्पण किया. इस मौके पर सीएम योगी ने कहा कि लम्बे अरसे तक प्रदेश के खिलाड़ियों को संसाधनों का अभाव रहा है, लेकिन वर्तमान सरकार खेल गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए हर जरूरी कदम उठा रही है. यह खेल ही हैं जो हमारे भीतर ‘टीम भावना’ का विकास करते हैं और आज कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में अगर हम बेहतर करने में सफल हुए हैं तो उसके पीछे यही ‘टीम भावना’ मुख्य कारक है.

इसे भी पढ़िए :  मैंने केरल में सीएम उम्मीदवारी पर घोषणा नहीं की थी: सुरेन्द्रन

सीएम योगी ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा बहुत जल्द मेरठ में ‘स्पोर्ट यूनिवर्सिटी’ की स्थापना कराई जाएगी. यह प्रदेश में खिलाड़ियों की प्रतिभा को मंच देने की दिशा में एक महत्वपूर्ण प्रयास होगा. वर्चुअल माध्यम से नोएडा इनडोर स्टेडियम को लोकार्पित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह बहुउद्देशीय इनडोर स्टेडियम 8040 वर्ग मीटर का है, जिसमें 4000 दर्शकों के बैठने की व्यवस्था है.

इस इनडोर स्टेडियम की शुरुआत से विभिन्न इनडोर गेम, जैसे- बैडमिंटन, टेबिल-टेनिस, बास्केटबॉल, हैन्डबॉल, वॉली बॉल, जिमनास्टिक, जूडो, वेट लिफ्टिंग ताइक्वान्डो आदि के आयोजन हो सकेंगे. यही नहीं, इस बहुउद्देशीय इनडोर स्टेडियम में विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम तथा अन्य राष्ट्रीय एवं अन्तराष्ट्रीय स्तर के विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताओं का सफलतापूर्वक आयोजन किया जा सकता है.

इसे भी पढ़िए :  योग गुरु रामदेव ने दिया धोखा: अखिलेश यादव

खिलाड़ी जरूरत बताएं हर मदद मिलेगी
नोएडा इनडोर स्टेडियम के लोकार्पण के साथ ही यहां पहली खेल प्रतियोगिता के रूप में 65वीं नेशनल फ्री स्टाइल सीनियर कुश्ती चैम्पियनशिप का आयोजन हो रहा है. रेसलिंग फेडरेशन के तत्वावधान में आयोजित इस प्रतियोगिता भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुभारंभ किया. इस अवसर पर उन्होंने नरसिंह यादव, अमित और गौरव कुमार सहित कई प्रतिष्ठित पहलवानों से बात कर पहलवानों की राज्य सरकार से अपेक्षा भी पूछी. मुख्यमंत्री ने कोविड काल के कारण पहलवानों के नियमित अभ्यास पर पड़े प्रतिकूल प्रभाव की भी चर्चा की. साथ ही, आश्वस्त किया कि हमारे प्रतिभावान पहलवानों व अन्य खिलाड़ियों को यदि किसी प्रकार की सहायता चाहिए तो तत्काल सरकार से बताएं, हर सम्भव मदद मिलेगी.

इसे भी पढ़िए :  हैकर्स के निशाने पर भारत के बड़े संस्थान, सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 + fourteen =