खुशखबरी: फरवरी से शुरू होंगी पैसेंजर ट्रेनें, इन रूटों का है प्रस्ताव

662
loading...

लखनऊ 9 जनवरी। कोरोना के चलते करीब नौ महीने से बंद पैसेंजर गाड़ियों को फरवरी से चलाने की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। इससे राजधानी से कानपुर, सीतापुर, बाराबंकी, हरदोई, शाहजहांपुर सहित अन्य रूटों के करीब 45 हजार यात्रियों को राहत मिलेगी। उत्तर रेलवे के मंडल रेल प्रबंधक संजय त्रिपाठी ने बताया कि कोरोना वैक्सीन आने के बाद धीरे-धीरे स्थितियों में सुधार हो सकता है। इसे देखते हुए पैसेंजर ट्रेनों के संचालन पर भी मंथन शुरू हो गया है। तैयारियां की जा रही हैं। उम्मीद है 31 जनवरी के बाद से यात्री ट्रेनों की शुरुआत हो जाए। हालांकि पैसेंजर गाड़ियों के शुरू होने से पहले रेलवे स्टेशन पर कोरोना संक्रमण से बचाव के उपाय पूरे करने होंगे। यात्रियों को भी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना होगा।

इसे भी पढ़िए :  कोहरे में ईपीई पर टकराये कई वाहन, पांच घायल

यूटीएस भी हो सकता है शुरू
अनारक्षित टिकट काउंटर (यूटीएस) भी यात्री गाड़ियों के साथ-साथ शुरू किया जा सकता है। कोरोना संक्रमण के चलते रेलवे प्रशासन ने रिजर्वेशन के जरिए ही यात्रा की सुविधा दे रखी है।

इन रूटों का है प्रस्ताव
– लखनऊ से सीतापुर के लिए पैसेंजर ट्रेन
– लखनऊ से कानपुर के बीच मेमू
– सहारनपुर के लिए पैसेंजर गाड़ी
– गोंडा के लिए पैसेंजर ट्रेन
– वाराणसी के लिए इंटरसिटी
– बाराबंकी के लिए मेमू ट्रेन

इसे भी पढ़िए :  वंश वृद्धि के लिए पत्नी की रजामंदी होगी जरूरी 

करीब 45 हजार यात्रियों को मिलेगी राहत
रूट — यात्री
लखनऊ-कानपुर — 34000
लखनऊ-हरदोई — 3000
लखनऊ-सुल्तानपुर — 1500
लखनऊ-बाराबंकी — 1500
लखनऊ-सीतापुर — 5000

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × 3 =