श्रम कार्यालय का निरीक्षण करने पहुंचे दिल्ली के उपमुख्यमंत्री, लापरवाही देख मैनेजर को किया बर्खास्त

26
loading...

नई दिल्ली: दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को उत्तर-पश्चिमी दिल्ली के श्रम कार्यालय का औचक निरीक्षण करने पहुंचे। श्रम कार्यालय में निर्माण श्रमिकों के रजिस्ट्रेशन में अनियमितता की शिकायतें मिलने के उपरांत डिप्टी सीएम और श्रम मंत्री ने औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के बीच लगभग एक दर्जन केसों में शिकायतें सही पाए जाने पर सिसोदिया ने श्रम कार्यालय के मैनेजर को तत्काल प्रभाव से बर्खास्त करने का आदेश जारी कर दिया।

इसे भी पढ़िए :  हाईकोर्ट ने यूपी सरकार पूछा, लापरवाह अधिकारियों पर अभियोग चलाने की क्यों नहीं दी अनुमति

जिसके साथ ही उन्होंने निरीक्षण श्रम अधिकारियों को पंजीयन और मजदूरों के कल्याण संबंधी सभी कार्य नियमानुसार और निश्चित समय अवधि के भीतर करने का आदेश दिया है। वहीं उत्तर-पश्चिमी दिल्ली श्रम कार्यालय में निर्माण श्रमिकों के रजिस्ट्रेशन में अलग-अलग अनियमितताओं की शिकायतें भी देखने को मिली है। इसके उपरांत मंगलवार सुबह डिप्टी सीएम ने कार्यालय का औचक निरीक्षण करके शिकायतों की कार्रवाई की।

कई लापरवाही: जंहा इस बात का पता चला है कि इन शिकायतों में कुछ श्रमिकों के रजिस्ट्रेशन दस्तावेजों में पुरुष के बजाय महिला की तस्वीरें लगाए जाने जैसी लापरवाही भी देखी गई है। कुछ केसों में श्रमिक के रजिस्ट्रेशन के लिए कार्यालय में उपस्थित होकर लाइव फोटोग्राफ के बजाय पहले की खींची गई फोटो लगाने जैसी अनियमितता शामिल है। डिप्टी सीएम ने श्रम अधिकारियों को आदेश दिया कि निबंधन और श्रमिक कल्याण योजनाओं को समुचित लाभ देने संबंधी सभी काम वक़्त पर किए जाने चाहिए। मनीष सिसोदिया ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए बोला कि गवेर्नमेंट ने जब निर्माण श्रमिकों के कल्याण की योजनाएं बनाई हैं तो इनका लाभ सभी योग्य लोगों को दिया जाना चाहिए। इसमें कोई भी लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

इसे भी पढ़िए :  यूपी विधान परिषद चुनाव में BJP के दस तथा SP के दोनों प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित, मिले निर्वाचन प्रमाण पत्र

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − fourteen =