बर्ड़फ्लू की वजह से बटर चिकन के शौकीन सतर्क

66
loading...

नई दिल्ली 21 जनवरी। बर्ड़ फ्लू की वजह से बटर चिकन‚ अंड़े‚काली मिर्च चिकन और चिकन सलामी व्यंजन के शौकीन भयभीत हैं। वे इन व्यंजनों से दूरी बना रहे हैं। कुछ लोग अब चिकन और अंड़े की जगह मटन‚ सी फूड़‚ सोयाबीन‚ पनीर‚ कटहल और मछली का लुत्फ ले रहे हैं। बर्ड़ फ्लू की वजह से संकट में आए रेस्तरां मालिक किसी भी तरह अपना कारोबार चालू रखने को बेचैन हैं। वे कुछ और विकल्प भी तलाश रहे हैं। कोविड़–१९ महामारी से पहले से ही जूझ रहे खाद्य उद्योग के पास बर्ड़ फ्लू के प्रभाव को कम करने के लिए बहुत कम समय है।  भारत के सबसे बड़़े सोशल नेटवर्कों में से एक पब्लिक ऐप के नवीनतम सर्वेक्षण के मुताबिक दिल्ली–एनसीआर के करीब ३‚५०० लोगों में से ६१.६८ प्रतिशत ने कहा कि वे बर्ड़ फ्लू के ड़र से अंड़ा और चिकन नहीं खाएंगे। इस संबंध में एक लक्जरी होटल के खानसामा ने कहा कि कुछ लोग अब चिकन और अंड़े की जगह मटन‚ सी फूड़ और मछली पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं जबकि कुछ अन्य लोग मांसाहार जैसे दिखने वाले सोयाबीन तथा कटहल पर ध्यान दे रहे हैं। पश्चिमी दिल्ली के राजेंद्र नगर इलाके में स्थित एक रेस्तरां के मालिक ने बताया कि उनके मेन्यू में सी फूड़ और वनस्पति उत्पाद से तैयार व्यंजनों को जोड़़ा गया है। उन्होंने कहा‚ लोग अंड़े और चिकन को लेकर सतर्क हैं‚ ऐसे में हमें चीजों को थोड़़ा बदलना होगा। हमने सोया के बने व्यंजन पेश किए हैं जो चिकन की तरह होते हैं । लेकिन वे शाकाहार हैं।

इसे भी पढ़िए :  तीनों अनी व सभी अखाड़ों के संत-महंतों ने किया महामंडलेश्वर का पदाभिषेक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × two =