रेलवे ने बनाया टिकट रिफंड नियम, जानें किन यात्रियों को मिलेगा फायदा

61
loading...

धनबाद 14 दिसंबर। कोरोना पर काबू पाने के लिए देशभर के स्टेशनों पर यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही है। यात्रियों का तापमान मापा जा रहा है। अधिक तापमान वाले यात्रियों को ट्रेन में सफर की अनुमति नहीं है। कोरोना लक्षण वाले यात्रियों के लिए रिफंड नियम को काफी लचीला बनाया गया है। ऐसी स्थिति में संबंधित यात्री या फिर उनके साथ यात्रा करनेवाले सहयात्री को भी फुल रिफंड देने का आदेश दिया गया है।

कोरोना काल में टिकट वापसी को लेकर यात्रियों के बीच कई तरह के भ्रम भी फैल रहे हैं। धनबाद रेल मंडल के पीआरओ पीके मिश्रा ने बताया कि अगर टिकट को चार्ट तैयार होने से 48 घंटे पहले कैंसल किया जाता है तो एसी फर्स्ट क्लास और एग्जीक्यूटिव क्लास के लिए 240 रुपए, एसी टू के लिए 200 रुपए, थर्ड एसी, एसी चेयरकार और एसी 3 इकोनॉमी के लिए 180 रुपए, स्लीपर और सेकंड क्लास के लिए 60 रुपए प्रति यात्री तय है। अगर टिकट चार्ट तैयार होने से 48 घंटे बाद लेकिन 12 घंटे पहले कैंसिल की जाती है तो उस पर दिए गए चार्ज काटे जाएंगे या टिकट की राशि का 25 फीसदी काटा जाएगा, जो भी ज्यादा हो वह राशि काटी जाएगी।

इसे भी पढ़िए :  सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, कई युवक व युवतियां आपत्तिजनक हालत में गिरफ्तार

अगर टिकट 12 घंटे पहले या ट्रेन गुजरने से चार घंटे पहले रद्द की जाती है तो टिकट का 50 फीसदी या न्यूनतम कैंसिलेशन चार्ज जो भी ज्यादा हो वो काटा जाता है। ट्रेन गुजरने के तीन घंटे बाद आरएसी या वेटिंग टिकट के कैंसिलेशन पर रिफंड नहीं मिलेगा। यदि ट्रेन रात नौ बजे से सुबह छह बजे के बीच की है तो टिकट काउंटर खुलने के शुरुआती दो घंटे के अंदर कैंसिलेशन पर निर्धारित रिफंड मिलेगा।

इसे भी पढ़िए :  शिवानी एक दिन की मेयर और आफरीन नगरायुक्त बनी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × 4 =