अब मकर संक्रांति से पहले कोई स्नान पर्व नहीं, घाटों पर सन्नाटा

25
loading...

हरिद्वार, 05 दिसंबर. गंगा की पावन धर्मनगरी हरिद्वार में कार्तिक स्नान के साथ आॅफ सीजन शुरू हो गया। पर्व स्नान का शुभारंभ अब 14 जनवरी मकर संक्रांति पर होगा। इस बीच कोई भी मांगलिक पर्व नहीं पड़ रहा है। 2021 में कुंभ है। कुंभ प्रारंभ होने में अब समय कम है। कुंभ मेले की अधिसूचना भी इस बार विलंब से होगी। मेलाकाल एक जनवरी के बजाय एक मार्च से माना गया है। कार्तिक पूर्णिमा, सोमवती अमावस्या, कांवड़ और छठ पूर्व के स्नान पर कोविड-19 का असर रहा।
इसके चलते देशभर से श्रद्धालु स्नान करने नहीं पहुंच सके। इससे तीर्थनगरी के धार्मिक व्यापार पर भी जबरदस्त असर पड़ा है। कुंभ पर भी कोरोना का खतरा मंडरा रहा है। अब नए वर्ष में 14 जनवरी को ही स्नान होगा। दिसंबर से 13 जनवरी लोहड़ी तक कोई स्नान पर्व नहीं है। मकर संक्रांति के बाद भी शिवरात्रि तक कोई स्नान पर्व नहीं पड़ेगा।

इसे भी पढ़िए :  दुनिया की सैर करनी है तो अब वैक्सीन पासपोर्ट के साथ करिए तैयारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 − twelve =