कुंभ मेला कार्यों में लापरवाही बर्दाश्त नहींः आयुक्त

30
loading...

हरिद्वार। मंडल आयुक्त (गढ़वाल) रविनाथ रमन ने मंगलवार को कुंभ मेला कार्यों की समीक्षा बैठक में अधिकारियों से कहा है कि निर्धारित लक्ष्य के अनुसार कार्य पूर्णं करें। उन्होंने कहा कि कार्यों में गुणवत्ता व पारदर्शिता पर किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। गुणवत्ता परीक्षण में कमी मिलने पर संबंधित अधिकारी को व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार माना जाएगा।

उन्होंने ऋषिकेश में आस्था पथ पर बाढ़ नियंत्रण की कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए। हाई पाॅवर कमेटी में स्वीकृत अस्थाई कार्य ड्रेसिंग, समतलीकरण पार्किंग, निजी भूमि लेने की औपचारिकता पूरी की जाए। 1000 बेड के अतिरिक्त कोविड सेंटर हाॅस्पिटल के लिए विकल्प के लिए किराये के आधार पर पतंजलि से वार्ता की जाएगी। गढ़वाल आयुक्त ने कुंभ मेले के दौरान कोविड नियंत्रण के सभी मानकों को पूर्ण करने के निर्देश दिए।

इसे भी पढ़िए :  पीसा की मीनार से पांच डिग्री ज्यादा झुका हुआ है 500 साल पुराना काशी का रत्नेश्वर महादेव मंदिर

बैठक के बाद उन्होंने पत्रकारों को बताया कि कुंभ मेला के मद्देनजर स्थायी प्रकृति के कार्य गतिमान हैं। 80 प्रतिशत स्थायी प्रकृति के कार्य 15 दिसम्बर तक पूर्ण हो जाएंगे। शेष 20 प्रतिशत कार्य 31 दिसम्बर 2020 तक पूर्ण हो जाएंगे। मायापुर में पुलिस का एक स्ट्रक्चर बनाया जाना है। यह फरवरी तक पूरा होगा। सड़क, पुल, बेरिकेड आदि कार्यों के संबंध में संबंधित विभागों ने टेंडर की औपचारिकता पूरी कर ली है। अधिकांश कार्यों के टेंडर शासन को स्वीकृति के लिए भेजे जा चुके हैं। एक से डेढ़ महीने मे कार्य पूर्ण होने का अनुमान है।

इसे भी पढ़िए :  नाम और जाति बदलकर सालों से बने हुए थे सरकारी टीचर, एफआईआर दर्ज, वेतन की होगी रिकवरी

उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के कारण कार्य प्रभावित हुए हैं, फिर भी विभागों ने अच्छा कार्य किया है। कुंभ के दौरान कोविड नियंत्रण के लिए शारीरिक दूरी, मास्क, साफ-सफाई व्यवस्था, बायो मेडिकल वेस्ट के डिसपोजल आदि की उचित व्यवस्था की जाएगी।

इसे भी पढ़िए :  रोजगार परक शिक्षा जरूरी, इसके लिए कहीं और न देखेंः मोहन भागवत

बैठक में कुंभ मेलाधिकारी दीपक रावत, जिलाधिकारी हरिद्वार सी. रविशंकर, एसएसपी कुंभ मेला जन्मजेय खण्डूरी, अपर मेलाधिकारी डॉ. ललित नारायण मिश्र, हरबीर सिंह, रामजी शरण शर्मा, उप मेलाधिकारी अंशुल सिंह, किशन सिंह नेगी, दयानंद के अलावा वित्त नियंत्रक वीरेन्द्र कुमार, नगर आयुक्त जयभारत सिंह, विद्युत, लोकनिर्माण विभाग, सिंचाई विभाग के वरिष्ठ अभियन्ता आदि उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

20 − twelve =