पंजाब में तोड़फोड़ के कारण मोबाइल नेटवर्क गायब, नेट बैंकिंग प्रभावित

13
loading...

चंडीगढ़, 31 दिसंबर। पंजाब में किसानों की ओर से मोबाइल टावरों को पहुंचाए गए नुकसान के कारण सैकड़ों गांवों और कस्बों को लोग प्रभावित हो रहे हैं। किसी के उपचार में बाधा पहुंच रही है तो किसी के कारोबार पर विपरीत असर पड़ रहा है। मोबाइल नेटवर्क न मिलने के कारण राज्य के कई जिलों के लोग परेशानियों से घिर गए हैं। नवांशहर के गांव सुधा माजरा के बुजुर्ग महिंदर सिंह ने कहा कि उनके बेटे का निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था। उन्हें 50 हजार रुपये की जरूरत थी। वह एटीएम पर पैसा निकलवाने गए। उन्होंने अपना एटीएम ओटीपी पर करवा रखा है। जब वह कैश निकलवाना चाहते थे तो नेटवर्क न होने के कारण उनके फोन पर ओटीपी नहीं आ रहा था। इस कारण उन्हें परेशानी हुई। बार बार कोशिश करने पर भी वह कैश नहीं निकलवा पाए।

नवांशहर में ही इमिग्रेशन का काम करने वाले अमित ने कहा कि वह बैंक का सारा काम आनलाइन करते हैं। बच्चों की दाखिला फीस भी आनलाइन जमा करवाते हैं, लेकिन दो दिन से उनका नेट बंद है और कारोबार बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है। विदेश जाने के इच्छुक कुछ विद्यार्थियों के इंटरव्यू होने थे, लेकिन इस कारण नहीं हो सके। फाजिल्का के खुइयां सर्वर क्षेत्र में टावर बंद होने के लोग काल करने की सुविधा से भी वंचित रहे। गांव के एक दुकानदार शंटी ने कहा कि उन्होंने शहर में थोक व्यापारियों को अदायगी करनी थी, लेकिन नेट बंद होने के कारण नेट बैंकिंग का इस्तेमाल नहीं कर सके।
गांव रोड़ांवाली के महल सिंह ने कहा कि मोबाइल बंद होने के कारण वह देश और दुनिया से कट गए हैं। दूसरे शहरों में रहने वाले मित्रों और संबंधियों से बात तक नहीं कर पा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

20 + seven =